scorecardresearch
 

चेन्‍नई ने दिया राजस्‍थान को करारा झटका

माइकल हस्सी और सुरेश रैना की चतुराईपूर्ण बल्लेबाजी से चेन्नई ने यहां राजस्थान पर आठ विकेट की आसान जीत दर्ज करके ट्वेंटी-20 लीग मुकाबले में अपना विजय अभियान जारी रखा.

माइकल हस्सी और सुरेश रैना की चतुराईपूर्ण बल्लेबाजी से चेन्नई ने यहां राजस्थान पर आठ विकेट की आसान जीत दर्ज करके ट्वेंटी-20 लीग मुकाबले में अपना विजय अभियान जारी रखा.

चेन्नई ने बल्लेबाजी ही नहीं गेंदबाजी में भी वापसी करने का जानदार नमूना पेश किया. हस्सी (नाबाद 79) और रैना (61) के दिलकश प्रदर्शन से पहले चेन्नई के गेंदबाजों ने राजस्‍थान को अच्छी शुरुआत का फायदा नहीं उठाने दिया था.

इससे पहले राहुल द्रविड़ की 66 रन की जानदार पारी के बावजूद राजस्थान ने यहां चेन्नई के खिलाफ छह विकेट पर 147 रन ही बना पाया.

द्रविड़ और शेन वाटसन (32) से मिली अच्छी शुरुआत से राजस्‍थान एक समय बड़े स्कोर की तरफ बढ़ रहा था लेकिन लगातार विकेट गंवाने के कारण वह अंतिम दस ओवर में 61 रन ही जोड़ पाया और इस बीच उसने छह विकेट गंवाये. द्रविड़ राजस्‍थान की पारी के आकषर्ण रहे. उन्होंने अपनी अर्धशतकीय पारी में 51 गेंद खेली तथा दस चौके लगाये. चेन्नई की तरफ से एल्बी मोर्कल और शादाब जकाती ने दो-दो विकेट लिये.

राजस्‍थान जब टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी के लिये उतरा तो द्रविड़ और वाटसन ने पहले विकेट के लिये दस ओवर में 86 रन की साझेदारी की. इस भागीदारी की खासियत यह रही कि संभलकर पारी आगे बढ़ाने वाले द्रविड़ गेंदबाजों पर पूरी तरह हावी रहे और अपने तूफानी तेवरों के लिये मशहूर वाटसन उनके सहयोगी की भूमिका निभाते रहे.

पावरप्ले के छह ओवर तक वाटसन ने गेंद को सीमा रेखा पार भेजने का जिम्मा संभाल रखा था लेकिन इसके बाद द्रविड़ ने अपने इस आस्ट्रेलियाई साथी से आगे निकलने में देर नहीं लगायी.

राजस्‍थान ने इस बीच वाटसन के रूप में पहला विकेट गंवाया जिन्होंने जकाती की गेंद पर करारा शाट जमाया लेकिन गेंदबाज ने इसे कैच में तब्दील कर दिया. उन्होंने अपनी पारी में 26 गेंद खेली और पांच चौके लगाये.

पहला विकेट उखड़ने की देर थी और फिर आगे की कहानी गेंदबाजों के इर्द गिर्द घूमने लगी. राजस्‍थान लगातार विकेट गंवाने से बैकफुट पर आ गया और 150 रन तक भी नहीं पहुंच पाया.

युवा बल्लेबाज अशोक मनेरिया को तीसरे नंबर पर भेजने का फैसला सही साबित नहीं हुआ और वह केवल दो रन बनाकर अश्विन की गेंद पर सीमा रेखा पर कैच देकर पवेलियन लौट गये. जकाती ने इसके बाद जोहान बोथा (8) को भी डगआउट में भेजा.

द्रविड़ गेंद को हवा में लहराते हुए सीमा रेखा पार भेजने के इरादों में सफल नहीं हो पाये. रणदीव की शार्ट पिच गेंद पर उन्होंने सीमा रेखा पर मुरली विजय को आसान कैच थमाया.

अजिंक्य रहाणे (4) किसी भी समय विश्वसनीय शाट लगाने की स्थिति में नहीं दिखे. मोर्कल ने उन्हें हवा में गेंद लहराने के लिये मजबूर करके वापस कैच लिया और फिर खतरनाक दिख रहे रोस टेलर (20) को सीमा रेखा पर लपकवाया.


टीमें

चेन्‍नई: महेंद्र सिंह धोनी (कप्‍तान), माइकल हसी, मुरली विजय, एस बद्रीनाथ, सुरेश रैना, श्रीकांत अनिरुद्ध, एल्बी मोर्केल, सूरज रणदीव, रविचंद्रन अश्विन, डग बोलिंगर और शादाब जकाती.

राजस्‍थान: शेन वार्न (कप्तान), शेन वॉटसन, राहुल द्रविड़, जोहान बोथा, अशोक मनेरिया, रॉस टेलर, अजिंक्या रहाणे, नयन दोशी, दिशांत याग्निक, स्टुअर्ट बिन्नी और सिद्धार्थ त्रिवेदी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें