scorecardresearch
 

महानायक ने मधुशाला की पंक्तियां सुनाईं तो हॉल तालियों से गूंज उठा

महानायक ने मधुशाला की पंक्तियां सुनाईं तो हॉल तालियों से गूंज उठा

अमिताभ बच्चन ने अपने बाबू जी की कविता मधुशाला की लाइनें ‘मेरे शव के पीछे चलने वालो, याद इसे रखना राम नाम है सत्य ना कहना, कहना सच्ची है मधुशाला’ गुनगुनाई तो हॉल तालियों से गूंज उठा.

Amitabh Bachchan Sings madhushala in his own way

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें