scorecardresearch
 

e-Agenda: नड्डा बोले- जिस लॉकडाउन को दुनिया ने सराहा, उस पर सवाल उठा रहा है विपक्ष

भारतीय जनता पार्टी के राष्टीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि विपक्ष अपनी भूमिका को आज तक नहीं समझ पाया है. उनकी जानकारी और समझदारी बहुत सीमित है.

e-Agenda Aaj Tak 1 Year Narendra Modi Govt 2.0 e-Agenda Aaj Tak 1 Year Narendra Modi Govt 2.0

  • e-एजेंडा कार्यक्रम में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने की शिरकत
  • नड्डा बोले- विपक्ष की जानकारी और समझदारी बहुत सीमित

e-एजेंडा आजतक कार्यक्रम के 'बीजेपी का मिशन 20-20' सेशन में भारतीय जनता पार्टी के राष्टीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने शिरकत की. नड्डा ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान बीजेपी ने सामान्य स्थिति से ज्यादा काम करने की कोशिश की है. प्रधानमंत्री की इच्छाशक्ति के साथ चट्टान की तरह भारतीय जनता पार्टी खड़ी रही है.

पार्टी अध्यक्ष ने कहा कि विपक्ष अपनी भूमिका को आज तक नहीं समझ पाया है. उनकी जानकारी और समझदारी बहुत सीमित है. दुनियाभर के संगठनों ने आज भारत के प्रयासों की तारीफ की है, लेकिन हमारे देश में विपक्ष के नेता सरकार के काम पर सवाल उठा रहे हैं. ये गैर जिम्मेदाराना है. हम लंबे समय तक विपक्ष में रहे हैं, लेकिन हमने हमेशा संकट के समय सरकार का साथ दिया है, लेकिन आज विपक्ष की सोच में सिर्फ राजनीति हावी है.

हार पर मंथन करती है बीजेपी

नड्डा ने कहा कि बीजेपी हार पर मंथन भी करती है और जीत पर जश्न भी मनाती है. हम स्ट्रैटेजी पर चलते हुए मंथन करते हैं. हमारे लिए सत्ता सेवा का माध्यम है, जीत में हमारा उद्देश्य ये होता है कि हम अच्छा करें, जिससे जनता को ज्यादा से ज्यादा लाभ मिले.

e-एजेंडा की लाइव कवरेज देखें यहां

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि लॉकडाउन में हमने 'फीड द नीड' कार्यक्रम के तहत करीब 19 करोड़ फूड पैकेट जरूरतमंदों तक पहुंचाए. मोदी किट के माध्यम से हमने राशन पहुंचाने का काम किया है, ऐसे 4 करोड़ राशन किट भी हमने बांटे हैं. लॉकडाउन के दौरान करीब 5 करोड़ फेस कवर बांटे गए हैं.

2000 से ज्यादा वर्चुअल मीटिंग्स

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के एक वर्ष पूरे होने पर प्रधानमंत्री की चिट्ठी को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए भाजपा कार्यकर्ता 10 करोड़ घरों तक पहुंचाएंगे. साथ ही लगभग 250 वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस, 2000 से ज्यादा वर्चुअल मीटिंग्स आयोजित की जाएंगी, जिसमें प्रत्येक में 1 हजार कार्यकर्ता जुड़ेंगे.

मोदी सरकार ने पिछले 6 साल में इंफ्रास्ट्रक्चर पर जो काम किया है, उसका परिणाम है कि गांवों में इंटरनेट के उपयोगकर्ता शहरों से ज्यादा हो गए हैं. हमारे मंडल स्तर और बूथ स्तर का कार्यकर्ता भी वर्चुअल बैठक में हिस्सा लेता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें