scorecardresearch
 

GST का पैसा दे केंद्र सरकार वरना मैं तनख्वाह नहीं दे पाऊंगा: सीएम अमरिंदर

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बताया कि हमें अभी केंद्र सरकार से ही पैसे लेने हैं. हमारे GST के और एक्साइज के पैसे केंद्र सरकार के पास बाकी हैं. करीब 6200 करोड़ रुपये की एक्साइज ड्यूटी नहीं आई है.

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह. (फाइल फोटो) पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह. (फाइल फोटो)

ई-एजेंडा आजतक के मंच पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शिरकत की. इस दौरान उन्होंने लॉकडाउन और कोरोना के खिलाफ चल रही लड़ाई पर अपनी राय रखी. उन्होंने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई लंबी और महंगी है. केंद्र और सभी राज्यों को साथ आ कर लड़ना होगा. हमारे पास फंड की कमी है. यदि ऐसा ही चलता रहा तो हम कर्मचारियों को तनख्वाह नहीं दे पाएंगे.

कोरोना टेस्ट को लेकर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बताया कि हम लगातार टेस्ट कर रहे हैं. पंजाब की आबादी तीन करोड़ से ज्यादा है. इतने सारे लोगों का टेस्ट करने का खर्चा बहुत आएगा. अभी एक मरीज का टेस्ट करने में हमें दो हजार रुपये लगते हैं. यदि सबका टेस्ट होगा तो उसके लिए फंड चाहिए.

फिलहाल हम प्राइवेट हॉस्पिटल और कुछ बिल्डिंग को टेक ओवर कर रहे हैं. इनमें मरीजों का इलाज किया जा सकता है. हमने प्रधानमंत्री से पैकेज की मांग की है.

GST के पैसे केंद्र के पास बाकी...

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बताया कि हमें अभी केंद्र सरकार से ही पैसे लेने हैं. हमारे GST के और एक्साइज के पैसे केंद्र सरकार के पास बाकी हैं. करीब 6200 करोड़ रुपये की एक्साइज ड्यूटी नहीं आई है. ऊपर से केंद्र सरकार ने शराब बंदी कर रखी है. हमें सबसे ज्यादा शराब पर लगने वाली एक्साइज ड्यूटी से ही कमाई होती है. हमने शराब की दुकानें खोलने के लिए केंद्र से कहा था. यदि एक्साइज और GST का पैसा हमें मिल जाए तो थोड़ी राहत होगी. वरना मैं तनख्वाह नहीं दे पाऊंगा.

सामान्य बिक्री होगी शराब की...

शराब बिक्री को लेकर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बताया कि इसकी सामान्य बिक्री ही होगी. लॉकडाउन में जैसे लोगों को सब्जियां और किराना दुकानें मिलती हैं उसी तरह शराब की दुकानें भी सामान्य तौर पर खोली जाएंगी. हालांकि, शराब बिकने के समय का फैसला मैंने जिला कमिश्मर पर छोड़ दिया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×