scorecardresearch
 

मनीष तिवारी का सवाल- मनरेगा गड्ढे खोदने के लिए थी, तो अब तक बंद क्यों नहीं की?

कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने मनरेगा को लेकर केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला. मनीष तिवारी ने सवाल किया कि जब ये गड्ढे खोदने की योजना थी तो इसे बंद क्यों नहीं किया गया. वे 9वें एजेंडा आजतक में बोल रहे थे.

X
मनीष तिवारी मनीष तिवारी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मनीष तिवारी ने सरकार पर साधा निशाना
  • मनीष तिवारी ने आर्थिक नीतियों पर उठाए सवाल

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनीष तिवारी ने महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) को लेकर केंद्र सरकार पर हमला बोला. मनीष तिवारी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेताओं ने मनरेगा को गड्ढे खोदने की योजना बताया. एजेंडा आजतक के मंच से मनीष तिवारी ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि मनरेगा जब गड्ढे खोदने की योजना थी तो अब तक बंद क्यों नहीं की?

कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने एजेंडा आजतक के महंगाई का मुद्दा सत्र में कोरोना काल के बाद देश में लगे लॉकडाउन की भी चर्चा की. मनीष तिवारी ने कहा कि जब देशभर से मजदूर कोरोना काल में लॉकडाउन के दौरान अपने घर लौटे तब उन्हें सबसे ज्यादा रोजगार मनरेगा योजना के जरिए ही मिला.

मनीष तिवारी ने कहा कि मनरेगा की डिमांड बढ़ी हुई है. उन्होंने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि आम आदमी की पीड़ा को यदि आप स्टैटिस्टिक्स में नापना चाहते हैं तो इसके बाद हमें कुछ कहना नहीं है. मनीष तिवारी सरकार की नीतियों पर सवाल उठाए और सीधा हमला बोलते हुए कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था को छलनी करने की जिम्मेदारी इनकी (केंद्र की एनडीए सरकार की) है.

कांग्रेस नेता ने साथ ही ये भी स्वीकार किया कि कोरोना काल में भारत की अर्थव्यवस्था पर भी नकारात्मक असर पड़ा है. उन्होंने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था कोरोना काल में भी प्रभावित हुई है लेकिन इसकी शुरुआत नोटबंदी के साथ ही हो गई थी. सरकार के आर्थिक कुप्रबंधन के कारण नोटबंदी और जीएसटी से अर्थव्यवस्था पर नकारात्मक असर पड़ा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें