scorecardresearch
 

मुस्लिम होने की वजह से किया जाता है टारगेट, कमेंट कर फतवा जारी करने की मिलती है धमकी: उर्फी जावेद

सोशल मीडिया पर अपनी तस्वीरें अपलोड की वजह से एक्ट्रेस उर्फी जावेद को हमेशा ट्रोल किया जाता है. इतना ही नहीं कई बार उन्हें ट्रोल्स बुरका पहनने और हिजाब लगाने की नसीहत देते हैं. कई बार तो उन्हें जान से मारने और रेप तक की धमकी मिली है. हालांकि उर्फी का यह कहना है कि मुस्लिम होने की वजह से उन्हें और उनके कपड़ों को ज्यादा टारगेट किया जाता है.

उर्फी जावेद उर्फी जावेद
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अक्सर अपनी ड्रेस को लेकर होती हैं ट्रोल
  • रेप और जान से मारने की मिली धमकी

उर्फी जावेद पिछले दिनों सोशल मीडिया पर अपनी एक ड्रेस की वजह से ट्रोल हो गई थीं. बता दें  सोशल मीडिया पर उर्फी और उनके ड्रेस को लेकर कई मीम्स भी बनने लगे हैं. 

एक मीम्स में उर्फी की तस्वीर के साथ यह भी लिखा गया है कि उन्हें अपने धर्म के अनुसार घर से बुर्का पहनकर बाहर निकलना चाहिए. ऐसे में उर्फी ने उस मीम्स को शेयर करते हुए जवाब में लिखा, 'क्योंकि, मैं मुसलिम हूं इसलिए मुझे टारगेट किया जा रहा है.'

मांग में सिंदूर, गले में मंगलसूत्र, लाल बनारसी साड़ी में मोनालिसा ने बिखेरा जलवा

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Urfi (@urf7i)

 

ट्रोलिंग का असर नहीं पड़ता मुझपर 

आजतक से बातचीत के दौरान उर्फी ने बताया, 'मेरे साथ अक्सर ऐसा होता रहा है. मैं जब भी कोई तस्वीर शेयर करती हूं, तो कभी मुझे हिजाब पहनने की नसीहत दी जाती है, तो कभी बुर्का. यहां तक की लोग मुझसे कहते हैं कि तुम पर तो फतवा जारी कर देना चाहिए. हालांकि मुझ पर इन कमेंट्स का कोई असर नहीं पड़ता है.' उर्फी आगे कहती हैं, 'अगर फतवा जारी करना है, तो कर दो. मैं तो हमेशा से ऐसे ही कपड़े पहनते आ रही हूं. मैं आगे भी अपनी मर्जी के ही कपड़े पहनूंगी. आप क्यों किसी को टोकते हैं. जब मैं किसी को नुकसान नहीं पहुंचा रही, तो लोग फिर हंगामा क्यों बरपाते हैं.'

इन बॉलीवुड फिल्मों में दिखी Ganesh Chaturthi की धूम, सेलिब्रेट हुआ गणेशोत्सव

मिली हैं रेप और जान से मारने की धमकियां 

भद्दे कमेंट्स पर उर्फी ने कहा, 'मैंने तो कमेंट्स पढ़ना बंद कर दिया है. अब तो लोग मुझे रेप की धमकियां देते हैं. यहां कि कितनों ने जान से मारने तक की धमकी दे डाली है. लोग लिखते हैं, ये तो गिरी हुई है, इसका तो सड़क पर रेप हो जाना चाहिए, इसे मार डालना चाहिए. मुझे तो हंसी आती है कि आप मुझसे कह रहे हो, आप अगर यही बात किसी रेपिस्ट को कहते और उनको ट्रोल करते, तो शायद कुछ बदलाव आता. इतनी गंदगी और मन में मैल उन लोगों के लिए रखें, जो औरतों के साथ गलत करते हैं. लेकिन आप उनसे कुछ नहीं कहेंगे आपको तो औरतों को टारगेट करना है.'

मुस्लिम कम्यूनिटी मुझसे खफा रहती है 

उर्फी आगे कहती हैं, 'मुस्लिम औरतों को लेकर एक इमेज है कि उन्हें हिजाब में होना चाहिए. वे लोग जब मुझे बिकनी पहनते हुए देखते हैं, तो उन्हें काफी दिक्कत होती है. पूरी कम्यूनिटी मुझसे खफा रहती है. मैं मुस्लिम हूं और मुझे गर्व है. मैं लड़की हूं और अपनी मर्जी से जीती हूं, तो क्या मैं अपना धर्म बदल लूं. लोग मुझे कहते रहते हैं कि धर्म बदल लो. चाहे कुछ भी हो जाए, मैं नहीं बदलने वाली धर्म. मैं वैसे भी धर्म से ज्यादा इंसानियत पर यकीन रखती हूं.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें