scorecardresearch
 

'प्रतिज्ञा' का बंद होने से आख‍िरी दिनों में दुखी थे एक्टर अनुपम श्याम

तमाम फिल्म व टीवी शोज में अपनी अदायगी का लोहा मनवा चुके अनुपम श्याम ने रविवार की बीती रात आखिरी सांस ली. अनुपम के जाते ही उनके साथ कुछ ख्वाहिशें भी अब चली गईं. अनुपम ने अपनी इस इच्छा को लेकर आमिर खान से मुलाकात भी की थी.

अनुपम श्याम ओझा अनुपम श्याम ओझा
स्टोरी हाइलाइट्स
  • नहीं रहे सज्जन सिंह अका अनुपम श्याम ओझा
  • आमिर खान से की थी ये गुजारिश
  • प्रतिज्ञा शो के ऑफ एयर की खबर से सदमे में थे

एक्टिंग के इंस्टीट्यूट कहे जाने वाले अनुपम श्याम ने रविवार की शाम आखिरी सांस लीं. अनुपम गोरेगांव स्थित लाइफलाइन में भर्ती थे. 63 साल की उम्र में इस दुनिया को अलविदा कह चले अनुपम अपने नाम से कम और प्रतिज्ञा के ठाकुर सज्जन सिंह के किरदार से ज्यादा पहचाने जाते थे. 

आर्थिक तंगी के लिए मांगी थी मदद
किडनी की बीमारी के साथ-साथ अनुपम आर्थिक तंगी से भी गुजर रहे थे. अनुपम के भाई अनुराग श्याम ने उनकी मदद की गुहार भी की थी. ऐसे में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ उनकी मदद के लिए सामने आए थे. aajtak.in से एक्सक्लूसिव बातचीत के दौरान अनुराग ने बताया, भाई के नहीं होने की खबर पर अबतक यकीन नहीं हो रहा है. कुछ समय पहले ही उन्हें आखिरी अलविदा कहकर लौटा हूं.

 

मुस्लिम परिवार से हूं, हीरोइन बनने निकली तो सुनने पड़े ताने, एक्ट्रेस ने सुनाया दर्द

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Anupam Shyam (sajjan Singh) (@anupamshyamojha)

 

वेंटिलेशन से लौटने वाले थे, लेकिन..

अनुराग कहते हैं, उनकी हालत बहुत खराब थी. पांच दिन पहले ही हम उन्हें अस्पताल लेकर पहुंचे थे. शूटिंग दौरान उन्होंने पानी ज्यादा पी लिया था. पानी उन्होंने इतना ज्यादा पी लिया कि लंग्स पर पानी भर आया जिससे सांस लेने में उन्हें तकलीफ होने लगी. पहले उन्हें ऑक्सीजन लगाया गया फिर उन्होंने कहा कि भईया बहुत दिक्कत हो रही है. डॉक्टर ने फिर उन्हें वेंटिलेटर पर डाल दिया था. वे बीच में ठीक भी हो गए थे. डॉक्टर ने ही कहा कि वेंटिलेटर हटा देते हैं. जिससे उनका ब्लड प्रेशर डाउन हो गया. उनके ऑर्गन सेल्स पर असर पड़ा और फैल्यॉर की वजह से अटैक आ गया. 

Neeraj Chopra ने Olympic में जीता गोल्ड, क्यों वायरल हुई अक्षय कुमार की तस्वीर? एक्टर ने किया रिएक्ट

शो के बंद होने की खबर से सदमे में थे अनुपम

अनुराग ने आगे कहा, एक और सदमा भी उन्हें लग गया था. किसी से उन्हें पता चल गया था कि शो बंद होने वाला है. वो बहुत सोचा करते थे. काम करने को लेकर जुनूनी हैं. ऐसे में यही सोचते रहते थे कि अब क्या होगा, कैसे चलेगा. शायद चिंता ही ले डूबी उन्हें. अनुराग बताते हैं, पिछले बार जब हम इलाज करवा पाने में असमर्थ हो गए थे. तो लोगों से गुहार की थी. इसका फायदा भी हमें मिला. योगी आदित्यनाथ से लेकर आम लोगों ने भी पैसे भिजवाए. आप यकीन करें, हमें पांच रुपये की भी मदद मिली है. इन पैसों से ही इनका ट्रीटमेंट चला है. मुझे याद है उस वक्त जब मैं फोन लेकर इन्हें दिखाया, तो लोगों का प्यार देखकर उनकी आंखे भर गई थीं. वे लगातार रोए जा रहे थे. 

आमिर से की थी इस चीज की गुहार 

अनुराग बताते हैं, हमारे परिवार में दुख का पहाड़ टूट पड़ा है. पिछले महीने की मां का देहांत हुआ था. अनुपम जा नहीं पाए थे. इसका सदमा भी उन्हें था. दरअसल प्रतापगढ़ में कोई डायलिसिस सेंटर नहीं है. ऐसे में अगर वे जाते, तो उनके जान को खतरा था. हमने कितनी गुहार की थी कि प्रतापगढ़ में डायलिसिस सेंटर लगाया जाए. अनुपम खास आमिर खान से इसकी दरख्वास्त लेकर मिलने पहुंचे थे. आमिर ने अश्योरिटी भी दी थी. हालांकि ये सपना उनके रहते पूरा नहीं हो सका. 

पूरी प्रतीज्ञा की टीम समेत संजय मिश्रा भी पहुंचे थे

अनुराग ने बताया अनुपम के इस आखिरी सफर में उन्हें अलविदा कहने उनके खास दोस्त संजय मिश्रा, दीप राज राणा, प्रतीज्ञा की पूरी टीम आई हुई थी. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें