scorecardresearch
 

चिंकारा शिकार मामला: जब पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर हंसने लगे थे सलमान खान

काला हिरण शिकार मामले में सलमान खान को गुरुवार जोधपुर सीजेएम कोर्ट ने पांच साल की सजा सुनाई है.

सलमान खान सलमान खान

काला हिरण शिकार मामले में सलमान खान को गुरुवार जोधपुर सीजेएम कोर्ट ने पांच साल की सजा सुनाई है. इस मामले को तकरीबन 20 साल बीत चुके हैं. कई मौकों पर सलमान अपने कोर्ट-कचहरी और जेल जाने के अनुभव को शेयर कर चुके हैं.

एक पुराने इंटरव्यू में उन्होंने ने चिंकारा श‍िकार मामले पर दलील पेश की थी. उन्होंने कहा था कि अगर किसी को लगता है कि मैंने श‍िकार किया है तो मैं ये केस कोर्ट में मेरिट के आधार पर लडूंगा. सबसे बड़ी बात की कोई केस ही नहीं है. उन्होंने बताया था कि 9 तारीख को हम सब शूटिंग कर रहे थे. उसके बाद अगर ये कहा जाता है कि हम खेल रहे थे तो नीलम, तब्बू, सोनाली का क्या काम है. सलमान ने बताया कि पहली पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई जिसमें कहा गया कि खाने की वजह से जानवर की मौत हुई. फॉरेस्ट डॉक्टर नेपालिया ने जानवर को एग्जामिन किया था. उन्होंने ही जानवर के मौत की वजह बताई.

पोस्टमार्टम रिपोर्ट सुन हंस पड़े सलमान

सलमान ने कहा था कि अगर खेल रहे थे तो हमें कैसे पता होगा कि जानवर कहां मर गए हैं, ऐसी कोई तहकीकात भी हो रही है. अगर हम खेल रहे होते तो हम रोज जाते, लोग हमें रंगे हाथ पकड़ लेते. लेकिन 11 दिन बाद दफनाए जानवरों को निकाला गया और रिपोर्ट में आया कि प्रॉबिबिली ए गन शॉट. सलमान ने कहा था, मुझे ये बात इसलिए याद है कि जिन्होंने मुझे बताया था वो इस बात पर जोर डाल रहे थे कि प्रॉबिबिली ए गन शॉट. इसे सुनकर मैं, सोहेल सभी हंसने लगे. उस दौरान साजिद नाडियावाला भी मौजूद थे.  उन्होंने ये भी कहा कि दोनों ही रिपोर्ट सामने आ गई हैं. केस में कोई दम नहीं है.  

बता दें 1998 में काला हिरण शिकार मामले में सलमान खान समेत तब्बू, नीलम, सोनाली और सैफ अली खान को आरोपी बनाया गया था.इस मामले मेंसलमान को सजा सुनाई गई है, बाकी आरोपियों को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें