scorecardresearch
 

भाईदूज पर परिणीति ने शेयर की खास पोस्ट, भाइयों को बताया करीबी दोस्त

परिणीति ने कहा, मेरे दोनों भाई मुझसे छोटे होने के बावजूद वे काफी मेच्योर हैं और वे मुझसे सलाह नहीं लेते हैं बल्कि मैं ही उनसे कॉल करके कई मुद्दों पर सलाह लेती रहती हूं. लेकिन अगर मुझे उन्हें एक एडवाइज देनी होगी तो मैं कहूंगी कि मेरी तरह ही खुशियों के पीछे भागो. जो भी काम करो उसमें खुशियां तलाशो. 

परिणीति चोपड़ा अपने भाईयों के साथ परिणीति चोपड़ा अपने भाईयों के साथ

एक्ट्रेस परिणीति चोपड़ा ने भाईदूज के मौके पर एक पोस्ट शेयर किया है जिसमें परिणीति अपने दोनों भाईयों के साथ नजर आ रही हैं. परिणीति ने अपने भाईयों के बारे में बात करते हुए कहा, 'मेरे भाई मेरे सोलमेट्स हैं, मेरे दोस्त हैं और वे मेरे लिए सब कुछ हैं. मैं उनसे अपनी जिंदगी से जुड़ी सभी परेशानियों को डिस्कस कर लेती हूं. उनके बड़े होने के बाद मेरी उनसे काफी अच्छी बनने लगी है. वे मेरे दोस्त हैं, मेरी फैमिली और मेरे सब कुछ हैं. '

उन्होंने कहा, मेरे दोनों भाई मुझसे छोटे होने के बावजूद वे काफी मेच्योर हैं और वे मुझसे सलाह नहीं लेते हैं बल्कि मैं ही उनसे कॉल करके कई मुद्दों पर सलाह लेती रहती हूं. लेकिन अगर मुझे उन्हें एक एडवाइज देनी होगी तो मैं कहूंगी कि मेरी तरह ही खुशियों के पीछे भागो. जो भी काम करो उसमें खुशियां तलाशो और भविष्य की चिंता करना छोड़ दो,

उन्होंने आगे कहा, 'दुर्भाग्य से हम तीनों ही अलग-अलग शहरों में रहते हैं और हम तीनों के लिए सभी त्योहारों पर मिलना काफी मुश्किल होता है. पर हम फेसटाइम पर एक दूसरे से बात करते हैं और मैं हमेशा उनसे गिफ्ट्स मांगती रहती हूं और अब वे मुझे गिफ्ट्स भेजने भी लगे हैं. जब मैं बड़ी हो रही थी तब मैं उन्हें 100-500 के नोट दे दिया करती थी लेकिन अब वे मुझे महंगे फोन और गिफ्ट्स देते हैं. मैं अपने दोनों भाईयों को लेकर बेहद गर्व महसूस करती हूं.'

परिणीति ने शेयर किए भाईयों के साथ सबसे यादगार लम्हें

उन्होंने कहा कि 'मेरे अपने भाईयों के साथ सबसे यादगार लम्हें केन्या के हैं. मेरे दादा-दादी केन्या में रहते थे और हम वहां गर्मी की छुट्टियां बिताने हर साल जाते थे. वहां वाइल्ड लाइफ सफारी पर जाना, पार्कों में जाना उन लोगों के साथ मेरी सबसे खुशनुमा यादों में शुमार है.'

गौरतलब है कि सायना नेहवाल की बायोपिक के अलावा परिणीति फिल्म हॉलीवुड फिल्म के रीमेक में भी काम कर रही हैं.  'द गर्ल ऑन द ट्रेन' नाम की इस फिल्म की कहानी पाउला हॉकिन्स लिखित इसी नाम के उपन्यास की कहानी पर आधारित है. ये फिल्म साइकोलॉजिकल थ्रिलर बताई जा रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें