scorecardresearch
 

पालघर में संतों की मॉब लिंचिंग पर भड़के जावेद अख्तर, कही ये बात

जावेद अख्तर ने अपने ट्वीट में लिखा, जो लोग दो साधुओं और उनके ड्राइवर की लिंचिंग के लिए जिम्मेदार हैं, उन पर सख्त एक्शन लिया जाना चाहिए और उन्हें किसी भी हालत में बख्शा नहीं जाना चाहिए.

X
जावेद अख्तर
जावेद अख्तर

महाराष्ट्र के पालघर में साधुओं की मॉब लिंचिंग को लेकर लोगों में आक्रोश है और संत समाज में भी इस घटना के बाद नाराजगी देखने को मिल रही है. इस मुद्दे पर मशहूर स्क्रीनराइटर और लेखक जावेद अख्तर की भी प्रतिक्रिया आई है. उन्होंने इस मामले में दोषियों को कड़ी सजा देने की मांग की है. जावेद ने ट्वीट में लिखा, जो लोग दो साधुओं और उनके ड्राइवर की लिंचिंग के लिए जिम्मेदार हैं, उन पर सख्त एक्शन लिया जाना चाहिए और उन्हें किसी भी हालत में बख्शा नहीं जाना चाहिए. लिचिंग जैसे जघन्य अपराध की किसी भी सभ्य समाज में जगह नहीं हो सकती है. जावेद के अलावा उनके बेटे और एक्टर फरहान अख्तर ने भी इस घटना की कड़ी निंदा की थी.

बता दें कि पालघर में 16 अप्रैल की रात भीड़ ने दो संतों को पीट-पीटकर मार दिया था. रिपोर्ट्स के अनुसार, चोर और डकैतों की अफवाह के चलते इलाके में पहले भी ऐसी घटनाएं हो चुकी हैं. अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद् ने भी इस घटना पर गुस्सा जाहिर किया था और साथ ही कहा था कि महाराष्ट्र में रावण राज चल रहा है और अगर जिम्मेदार लोगों पर एक्शन नहीं होता है तो लॉकडाउन के बाद नागा साधुओं की फौज महाराष्ट्र कूच करेगी.

पहले भी कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर आया है जावेद अख्तर का बयान

गौरतलब है कि जावेद अख्तर अक्सर कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर अपनी राय देते आए हैं. वे इससे पहले कोरोना वायरस के खतरे के प्रति लोगों को आगाह करते रहे हैं. उन्होंने इससे पहले देशवासियों के नाम एक वीडियो मैसेज दिया था जिसमें उन्होंने कहा था कि ग्लोबल महामारी कोरोना वायरस से लड़ने के लिए देश में लोगों को एकजुट रहना और एक-दूसरे पर भरोसा रखना बहुत जरूरी है. उन्होंने देश में सांप्रदायिक तनाव के मामलों और स्वास्थ्यकर्मियों पर हमले की घटनाओं पर भी चिंता जताई थी. जावेद की पत्नी शबाना आजमी ने ट्विटर पर उनका ये वीडियो शेयर किया था जिसमें वे लोगों से कोरोना वायरस के खिलाफ एकता का प्रदर्शन करने का अनुरोध करते दिखे थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें