scorecardresearch
 

सिर्फ ऊपरवाले से डरता हूं कि कोई गलत काम न कर बैठूं: मीका सिंह

आजकल हिंदी फिल्मों के गानों का जिक्र होता है, तो मीका सिंह का नाम याद आ ही जाता है, और उनसे मुलाकात करके हमने फिल्मों, रियलिटी शो, आने वाली फिल्में और जिंदगी के बारे में जानना चाहा, पेश है उनसे हुई बातचीत का अंश...

एक कार्यक्रम में राखी सावंत के साथ मीका सिंह (फाइल फोटो) एक कार्यक्रम में राखी सावंत के साथ मीका सिंह (फाइल फोटो)

आजकल हिंदी फिल्मों के गानों का जिक्र होता है, तो मीका सिंह का नाम याद आ ही जाता है, और उनसे मुलाकात करके हमने फिल्मों, रियलिटी शो, आने वाली फिल्में और जिंदगी के बारे में जानना चाहा, पेश है उनसे हुई बातचीत का अंश...

आप 'द वॉयस ऑफ इंडिया' के कोच क्यों बन गए?
इसकी मुख्य वजह थी कि यह एक नया शो है और इसका फॉर्मेट भी अलग है. इसके पहले भी कई ऑफर आए, लेकिन मैंने नहीं किया. ये मेरी लाइफ का तीसरा या चौथा रियलिटी शो है. मैं एक बार जंगल में भी गया था, बिग बॉस नहीं किया आज तक, द वॉइस में आपको झगड़ना नहीं है. नए बच्चे हैं, मुझे नई चीजें काफी पसंद हैं.

खुद के अलावा आप किसे 'द वॉइस ऑफ इंडिया' मानते हैं ?
एक तो नहीं, मेरे कई फेवरिट हैं. म्यूजिक डायरेक्टर हैं आर डी बर्मन, रोमांटिक गानों में किशोर दा का कोई जवाब नहीं है. सूफी संगीत में नुसरत फतेह अली खान, गजल में गुलाम अली और जगजीत सिंह मेरे फेवरेट हैं. परफॉर्मर के रूप में माइकल जैक्सन सदाबहार हैं.

हिप हॉप गाने आप ज्यादा गाते हैं, कभी मन नहीं करता स्लो सांग्स गाने का?
मैंने अभी 'दमा दम मस्त कलंदर' गाया है, और जल्द ही मैं राहत फतेह अली खान के साथ मिलकर उस्ताद नुसरत फतेह अली खान को ट्रिब्यूट दूंगा.

राहत फतेह अली खान के साथ मुलाकात के बारे में बताएं.
मैं उन्हें 1998 से जानता हूं, हम दोनों ने साथ ही इंडस्ट्री में कदम रखा था. वैसे तो वो मेरे सीनियर हैं, लेकिन मेरे गीत पहले आ गए थे. इसके बाद उनके गाए गीत फिल्म 'पाप' में आए. बहुत ही अच्छे इंसान हैं वो.

कोच और प्रतियोगी में क्या अंतर होता है ?
बहुत अंतर है, एक तो प्रतियोगी बहुत ही तैयारी से आता है. वह बच्चा जो आता है उसकी पावर वही है जो मेरी 1998 में थी. हम सब कोचेज ज्यादा उम्र के हो जाते हैं, वो कुछ भी कर सकता है, उस पर हमें निर्णय लेना बहुत मुश्किल होता है. बच्चों में जो आग होती है, उसे सुनने में मजा आ जाता है. हमें लगता है की हम भी ऐसे ही हुआ करते थे.

सिंगिंग की सबसे अच्छी बात क्या है ?
मुझे कपिल शर्मा कहता रहता है की पाजी हमें हर दिन कुछ न कुछ नया कॉमेडी में देना होता है लेकिन आपका अच्छा है, एक ही गाना बार-बार गाकर पैसे कमा लिया करते हो. तो सिंगिंग की ये ही खासियत है एक गाने के बाद आप परफॉर्म करना शुरू कर देते हैं.

जब आप उस मीका को देखते हैं जो चाय के बागान में खड़े होकर अपना पहला गाना 'सावन में लग गयी आग' गाता है, तो कैसा लगता है?
मुझे ऐसा लगता था कि अमीर नहीं बनना था, गाड़ी नहीं लेनी थी, बॉडीगॉर्डस नहीं रखने थे, मुझे ये कुछ भी नहीं करना था, जो आज हो रहा है, लेकिन आजकल बच्चों को बड़ा ब्रेक चाहिए. उन दिनों बस एक बात थी चाहे मुझे जागरण पर गाना है या फिल्मों या एल्बम में, बस मेरा गाना हिट होना चाहिए. पेमेंट की टेंशन नहीं थी बस काम का जज्बा था.

आपको लगता है आप हमेशा कुछ अच्छा करना चाहते हैं लेकिन कॉन्ट्रोवर्सी हो जाती है ?
पता है प्रॉब्लम ये हो जाती है कि सिस्टम को बदलना मुश्किल है, तो मुझे लगता है की जैसे चल रहा है उसे वैसे चलने दो. अभी मैं एक 'दरगाह' पर गया था, छुप के जा रहा था, फिर मैंने सोचा मैं क्यों छुप रहा हूं. माथा ही टेकना है, जहां लाखों लोग जाते हैं ऊपर वाले से अरदास लगाने, तो मैंने तय किया की भगवान की बनाई हुई सृष्टि को बदलना सही नहीं है.

हाल ही में आप पाकिस्तान गए थे, शो किया, क्या फर्क है दोनों देशों में ?
कोई भी फर्क नहीं है, मैंने कहा कि सिक्योरिटी नहीं चाहिए. हम चार दोस्त थे सभी अकेले घूमे. हम बाबा बुल्ले शाह और ननकाना साहब गए. बहुत प्यार मिला. पूरा पाकिस्तान घूमे. वहां अभी भी बहुत से मंदिर और गुरुद्वारे हैं. तो मुझे कोई भी फर्क नजर नहीं आया.

आपने 'बलविंदर सिंह फेमस हो गया' में एक्टिंग भी, आगे भी करते रहेंगे?
वैसे मैंने यह फिल्म सिर्फ अपनी प्रोड्यूसर्स की सहायता के लिए की थी. अगली बार मैं नए एक्टर्स और सिंगर्स को भी मौका दूंगा, अच्छी कास्टिंग करके फिल्में बनाएंगे.

सलमान खान के आप काफी करीब हैं?
1999 मैं अपने गाने का शूट कर रहा था, सेट पर भूमिका चावला, स्मृति ईरानी हम सब थे. इस दौरान सलमान भाई हमारी शूटिंग 3 घंटे तक देखते रहे, तो वह मेरी पहली मुलाकात थी. फिर 2010 में जब मैंने बॉडीगॉर्ड का गाना गाया तो हमारी बड़ी मुलाकात हुई. इसके बाद उनसे लगाव बढ़ता गया. उनके अच्छे काम को हम फॉलो करते हैं. वह बहुत ही अच्छे और जिंदादिल इंसान हैं.

हाल-फिलहाल में सलमान के लिए गा रहे हैं ?
अभी तो नहीं लेकिन जब भी वो आदेश करते हैं गा देता हूं.

खुद जैसा जज्बा आप किसी सिंगर में देखते हैं?
आजकल सबको गाना ही गाना होता है, अपनी पहचान नहीं बनानी होती, मुझे लगता है लोगों को आपकी पहचान पता होनी चाहिए, हनी सिंह मेरा चेला था और जल्द ही और गाने गाएगा वो, उसमें मैं खुद को देख पाता हूं.

आपकी गर्ममिजाजी हमेशा सुर्खियों में रहती है, आपको इतना गुस्सा क्यों आता है?
मुझे गुस्सा बहुत आता है, कभी कभी तो रोड पर गाडी चलाने वालों पर आ जाता है, लेकिन कंट्रोल कर लेता हूं.

क्या आपको किसी से डर भी लगता है?
भगवान से बहुत डरता हूं, हमेशा यह डर सताता है कि कही कोई गलत काम न करूं. मैं कोशिश करता हूं कि मेरी वजह से किसी का बुरा न हो.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें