scorecardresearch
 

पद्मावती पर बवाल से नाराज हैं दीपिका पादुकोण? PM मोदी के इवेंट में जाने से मना किया

पद्मावती पर चल रहे विरोध के बीच एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण ने खुद को Global Entrepreneurship Summit (GES) से अलग कर लिया है. 28 नवंबर से शुरू होने वाले इस सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूएस प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवानका हिस्सा लेंगे.

X
पद्मावती में दीपिका पादुकोण पद्मावती में दीपिका पादुकोण

पद्मावती पर चल रहे विरोध के बीच एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण ने खुद को Global Entrepreneurship Summit (GES) से अलग कर लिया है. 28 नवंबर से शुरू होने वाले इस सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूएस प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांका शामिल होने वाली हैं.

इस बारे में तेलंगाना सरकार के एक उच्च अधिकारी ने बताया कि दीपिका ने इवेंट में आने से मना कर दिया है. दीपिका 29 नवंबर को यहां एक सेशन Hollywood to Nollywood to Bollywood: The Path to Moviemakin में बोलने वाली थीं.

क्या पद्मावती राष्ट्रमाता? योगी ने कहा- अगर धमकी देने वाले गलत तो भंसाली पर भी हो कार्रवाई

तेलंगाना सरकार के इन्फोर्मेशन टेक्नोलॉजी सेक्रेटरी जयेश रंजन ने कहा- 'पहले दीपिका इस सेशन का हिस्सा थीं, लेकिन अब उन्होंने इसे अटेंड करने से मना कर दिया है. इसके पीछे का कारण अभी पता नहीं चला है. अभी प्रोग्राम के मेहमानों की लिस्ट फाइनल नहीं हुई है क्योंकि इसमें बहुत से बदलाव हो रहे हैं.' माना जा रहा है कि पद्मावती पर बढ़े विवाद से नाराज होकर दीपिका ने ये कदम उठाया है.

सलामत रहे दीपिका का सिर

पद्मावती को लेकर दीपिका को मिल रही धमकियों पर कमल हासन ने विरोधियों की चुटकी ली है. कमल ने कहा, 'मैं चाहता हूं कि दीपिका का सिर सलामत रहे.'

68 दिन से पहले नहीं होगी रिलीज

प्रसून ने कहा है कि फिल्म की वर्तमान स्थिती को देखते हुए फिल्म को सर्टिफिकेट देने में 68 दिन लग सकते हैं. उनका यह बयान उन मीडिया रिपोर्ट्स को कंफर्म करता दिख रहा है, जिसमें कहा गया था कि सेंसर बोर्ड ने फिल्म के मेकर्स द्वारा सर्टिफिकेट देने की प्रक्रिया को जल्दी करने की अर्जी ठुकरा दी है.

उधर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने संजय लीला भंसाली का सिर काटने और दीपिका पादुकोण की नाक काटने की धमकी देनो वालों का बचाव किया. मंगलवार को उन्होंने कहा, अगर सिर काटने और नाक काटने की धमकी देने वाले गलत हैं और इस आधार पर उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए तो फिल्म (पद्मावती) के निर्माता पर भी कार्रवाई होनी चाहिए.

पद्मावती के एक चरित्र में खो गया लाखों का बलिदान, कई बड़े मुद्दे

बीजेपी नेता के खिलाफ FIR

रिपोर्ट के मुताबिक, गुरुग्राम के एक शख्स ने बीजेपी नेता सूरजपाल अमू के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है.इस बीच सेंसर चीफ ने साफ़ किया है कि पद्मावती 68 दिन से पहले नहीं रिलीज हो पाएगी.अमू ने पद्मावती बनाने वालों का सिर कलम करने पर इनाम की घोषणा की थी. उन्होंने कहा था कि जो इन लोगों के सिर कलम करेगा, उसे 10 करोड़ का इनाम दिया जाएगा. इतना ही नहीं ऐसा करने वाले के परिवार का ध्यान रखने का भी उन्होंने आश्वासन दिया था. उन्होंने रणवीर सिंह को कहा था कि 'अगर तूने अपने शब्द वापस नहीं लिए तो तेरी टांगों को तोड़कर तेरे हाथ में दे देंगे.'

संसद पहुंचा पद्मावती पर टकराव, पिटीशन कमेटी कर सकती है भंसाली से लेकर विरोधी तक को तलब

प्रसून ने सोमवार को IFFI में मीडिया से बात करते हुए यह कहा. उन्होंने फिल्म को सेंसर बोर्ड में सबमिट करने से पहले कुछ मीडियापर्सन्स को फिल्म दिखाने पर अपनी निराशा भी जाहिर की. उन्होंने कहा कि अगर लोग चाहते हैं कि सेंसर बोर्ड फिल्म पर कोई फैसला ले तो उन्हें बोर्ड को समय, स्वतंत्रता और मानसिक स्पेस देना होगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें