scorecardresearch
 

सेंसर बोर्ड को रेप सीन पर ऐतराज! अटकी रवीना टंडन की फिल्म 'मातृ' की रिलीज

रवीना टंडन की कमबैक फिल्म कही जा रही 'मातृ' रिलीज से पहले ही मुश्किल में फंस गई है. कहा जा रहा है कि सेंसर बोर्ड ने इसे सर्टिफिकेट देने से इनकार कर दिया है.

मातृ का पोस्टर मातृ का पोस्टर

रवीना टंडन की कमबैक फिल्म कही जा रही 'मातृ' रिलीज से पहले ही मुश्किल में फंस गई है. कहा जा रहा है कि सेंसर बोर्ड ने इसे सर्टिफिकेट देने से इनकार कर दिया है. सूत्रों के मुताबिक, फिल्म में हिंसक रेप सीन पर बोर्ड को ऐतराज है.

बीच में ही स्क्रीनिंग छोड़कर चले गए बोर्ड के मेंबर्स
दरअसल यह फिल्म देश में बढ़ते रेप केस के बारे में है. पर लगता है सामाजिक मुद्दे पर बनी यह फिल्म सेंसर बोर्ड को रास नहीं आई. सूत्रों के मुताबिक, सेंसर बोर्ड ने फिल्म को अभी तक सर्टिफिकेट नहीं दिया है. गौरतलब है कि सेंसर बोर्ड की एक टीम फिल्म की स्क्रीनिंग के लिए बैठी थी लेकिन बीच में ही बोर्ड के सदस्य फिल्म छोड़कर चले गए. इसका कारण यह बताया जा रहा है कि फिल्म के बारे में सेंसर बोर्ड के सदस्यों को जरूरी जानकारी नहीं दी गई.

मोदी करते हैं, इसलिए सेंसर बोर्ड और किसी को नहीं करने देगा 'मन की बात'

बोर्ड के चीफ ने क्या कहा?
सीबीएफसी के चीफ पहलाज निहलानी ने साफ किया कि उन्होंने फिल्म में बदलाव के लिए और फिल्म के मेकर्स से बातचीत करने के लिये शनिवार के दिन भी सीबीएफसी का दफ्तर खोल कर रखा था, जो कि अमूमन शनिवार को बंद रहता है. अब खबरें यह भी हैं कि फिल्म की टीम ट्रीब्यूनल जाएगी और फिल्म के लिए इंसाफ की मांग करेगी. फिलहाल इस मामले पर रवीना टंडन ने कुछ भी नहीं कहा है.

'लिपस्टिक अंडर माय बुर्का' को सेंसर बोर्ड ने बताया 'असंस्कारी', नहीं दिया सर्टिफिकेट

दो साल बाद वापसी कर रही हैं रवीना
90 के दशक की मशहूर एक्ट्रेस रहीं रवीना टंडन इस फिल्म के जरिए बॉलीवुड में वापसी कर रही हैं. करीब दो साल बाद उनकी कोई फिल्म आ रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×