scorecardresearch
 
मनोरंजन

मौत के बिस्तर पर जब रामानंद सागर ने लिखी डायरी, पढ़कर दंग रह गई दुनिया

मौत के बिस्तर पर जब रामानंद सागर ने लिखी डायरी, पढ़कर दंग रह गई दुनिया
  • 1/8
दूरदर्शन पर एक बार फिर रामायण और महाभारत जैसे ऐतिहासिक सीरियल्स शुरू हो गए हैं. राम और सीता को तो सभी ने याद किया है. इस बीच इन्हें बनाने वाले रामानंद सागर का जिक्र ना हो, भला ये कैसे हो सकता है. फिल्म निर्देशक रामानंद सागर ने रामायण, महाभारत समेत कई लोकप्रिय सीरियल्स को जन्म दिया. इनके बदौलत उनका नाम आज अमर हो चुका है. लेकिन क्या आपको पता है रामानंद टीबी के मरीज थे? इलाज के दौरान उन्होंने डायरी लिखना शुरू किया और उनकी इस डायरी के हर एक कॉलम ने लोगों को हैरान कर दिया. आइए जानें उनका यह किस्सा.

मौत के बिस्तर पर जब रामानंद सागर ने लिखी डायरी, पढ़कर दंग रह गई दुनिया
  • 2/8
एक इंटरव्यू में रामानंद सागर के बेटे प्रेम सागर ने इस किस्से का जिक्र किया था. उन्होंने कहा- 'मेरे पिता रामानंद सागर जी को पढ़ने-लिखने का बहुत शौक था. वे दिन-रात पढ़ाई में लगे रहते थे. एक दिन उन्हें खांसी आई. फिर देखा तो उनके कपड़े में खून लगा हुआ था. फैमिली डॉक्टर को बुलाया और जांच में पता चला कि उन्हें टीबी है.'

मौत के बिस्तर पर जब रामानंद सागर ने लिखी डायरी, पढ़कर दंग रह गई दुनिया
  • 3/8
'उस वक्त टीबी का कोई इलाज नहीं था. डॉक्टर ने उन्हें टीबी सेनिटोरियम में भर्ती हो जाने की सलाह दी थी. फिर पिताजी को (रामानंद सागर) उनके दादाजी टंगमर्ग स्थ‍ित टीबी सेनिटोरियम लेकर गए और वहां उन्हें भर्ती कर दिया. यहां टीबी पेशेंट्स जिंदा जरूर आते थे लेकिन उनकी लाश बाहर जाती थी.'

मौत के बिस्तर पर जब रामानंद सागर ने लिखी डायरी, पढ़कर दंग रह गई दुनिया
  • 4/8
'उस सेनिटोरियम में एक कपल भी था. वे एक-दूसरे से बहुत प्यार करते थे. एक दिन दोनों स्वस्थ होकर वहां से निकले. उन्हें देखकर पिताजी चकित रह गए. उस दिन उन्हें एहसास हुआ कि प्यार किसी भी बीमारी को मात दे सकता है. उस दिन से उन्होंने रोज डायरी लिखना शुरू किया- मौत के बिस्तर से डायरी टीबी पेशेंट की.'

मौत के बिस्तर पर जब रामानंद सागर ने लिखी डायरी, पढ़कर दंग रह गई दुनिया
  • 5/8
'ये सब साहित्य से जुड़े लोग पढ़ते थे. पिताजी ने कॉलम लिखकर भेजना शुरू किया. उनके कॉलम को पढ़कर एक अखबार के संपादक हैरान रह गए थे. वे सोचने लगे कि एक आदमी मर रहा है और वो लोगों को बता रहा है कि जीना कैसे है. '


मौत के बिस्तर पर जब रामानंद सागर ने लिखी डायरी, पढ़कर दंग रह गई दुनिया
  • 6/8
रामानंद के कॉलम ने संपादक का दिल छू लिया और उन्होंने अपने अखबार में एक कॉलम निकालाना शुरू किया- 'मौत के बिस्तर से रामानंद सागर'.
मौत के बिस्तर पर जब रामानंद सागर ने लिखी डायरी, पढ़कर दंग रह गई दुनिया
  • 7/8
'फैज अहमद फैज, किशनचंद्र, राजिंदर सिंह बेदी ने भी पिताजी के आर्ट‍िकल्स को सराहा औ वे भी उनके फैन हो गए. फिर पिताजी (रामानंद सागर) को बतौर लेखकार पहचान मिली.'  
मौत के बिस्तर पर जब रामानंद सागर ने लिखी डायरी, पढ़कर दंग रह गई दुनिया
  • 8/8
Photos: Sagar World Instagram