scorecardresearch
 

अब खुद की फिल्मों को देख हंसते हैं बिग बॉस कंटेस्टेंट राकेश बापट

फिल्मों से अपनी एक्टिंग करियर की शुरुआत करने वाले राकेश बापट की जिंदगी में ऐसा भी दौर था, जब वे मेंटल हेल्थ से जूझ रहे थे. राकेश ने आजतक से बातचीत के दौरान बताया कि किस तरह उन्हें इससे उबरने में वक्त लग गया और ट्रीटमेंट की जरूरत पड़ी. हालांकि राकेश अब जिंदगी के बेहतरीन फेज पर हैं.

X
राकेश बापत राकेश बापत
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अपने डिवोर्स को लेकर राकेश ने कही ये बात
  • अपनी ही फिल्मों को देख अब हंसते हैं राकेश

शो से कुछ दिनों पहले ही बाहर आए राकेश बापट शमिता शेट्टी संग अपने रिलेशनशिप को लेकर चर्चा में हैं. पूरे शो में शांत दिखने वाले राकेश को देखकर यह यकीन कर पाना मुश्किल होगा कि एक वक्त उन्होंने अपने लिए साइकॉलजिस्ट का सहारा लिया था. 

आजतक डॉट इन से एक्सक्लूसिव बातचीत के दौरान राकेश ने बताया कि एक समय ऐसा भी था कि वे करियर की फेज में खुद को काफी असहाय महसूस कर रहे थे. 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Raqesh Bapat (@raqeshbapat)

 
 
मेरा कोई गॉडफादर नहीं है 
राकेश बताते हैं, मैंने जब अपने करियर की शुरुआत फिल्म तुम बिन से की थी, तो उस वक्त मेरा कोई गॉडफादर नहीं था. मिस्टर इंडिया बनने के फौरन बाद फिल्म मिल गई और मैंने हामी भर दी. इसके बाद ऑफर्स जो मिले, मैं बिना सोचे समझे साइन करता गया. अब जब अपना काम देखता हूं, तो लगता है कि यार, ये फिल्म नहीं करनी चाहिए थी. 
 
पहले कल्चर काफी अलग था 
आज के दौर में जिस तरह एक्टर्स हर चीज की ट्रेनिंग लेकर आते हैं, हमारे वक्त ऐसा नहीं होता था. आज के एक्टर्स तो काफी प्रफेशनल पेश आते हैं. हमारे वक्त का कल्चर ही काफी अलग हुआ करता था. 
 
 
डिप्रेशन की वजह से लिया था प्रफेशनल हेल्प 
मेरे करियर में चार से पांच का का वक्त ऐसा था, जब मैं पूरी तरह निराश हो गया था. निराशा इतनी थी कि मुझे डॉक्टर की सलाह लेनी पड़ी थी. मैं डिप्रेशन में था और कुछ भी अच्छा नहीं लगता था. किसी भी एक्टर के लिए करियर का लो होना उसे वाकई में निराश कर देता है. हालांकि मुझे इसे बताने में कोई शर्म नहीं है कि मैंने उस वक्त साइकॉलजिस्ट की परामर्श ली थी. दरअसल मेंटल हेल्थ भी एक ऐसी समस्या है, जिसके बारे में बात होनी बहुत जरूरी है. 
 
अब अपनी फिल्मों को देख हंसी आती है 
अपनी फिल्मोग्राफी के बारे में बात करते हुए राकेश बताते हैं, मैंने जितनी भी फिल्में की हैं, उन्हें देखकर वाकई मुझे हंसी आती है. मुझे अपने प्रोजेक्ट्स देखने की हिम्मत नहीं होती है. मुझे पता है कि उस वक्त एक्टिंग में मैच्यॉरिटी बिलकुल भी नहीं थी. वक्त के साथ-साथ मैंने एक एक्टर के तौर पर ग्रो किया है. तभी मैं एक्टर के रूप में बहुत कमजोर था. 
 
अपनी शादी को खराब एक्सपीरियंस नहीं मानता 
अपने डिवोर्स पर राकेश कहते हैं, मैंने कभी भी अपनी शादी को खराब शादी नहीं समझा है. मेरे लिए तो बल्कि यह सीखने वाला एक्सपीरियंस रहा है. ऐसा नहीं है कि कुछ बुरी चीजों से ही आप सीखते हैं, आपको सीखाने के लिए अच्छी चीजें भी होती हैं. मैंने कभी इसका बोझ नहीं लिया है, बल्कि यही कहूंगा कि आने वाले रिलेशनशिप पर मुहर लगाने में वक्त लूंगा. मैं कोई भी निर्णय जल्दबाजी में नहीं लेना चाहता हूं. रिद्धी से मेरे टर्म्स आज भी अच्छे हैं. बिग बॉस जाने से पहले और यहां निकलने के बाद भी हमारी कॉल पर बात हुई है. वो उस वक्त इंडिया में थी नहीं, उन्होंने यही कहा कि तुमने अच्छा खेला है और हम तुम्हारे साथ हैं. चाहे आगे कुछ भी हो, एक दूसरे के सपोर्ट में हम हमेशा रहेंगे. 
 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें