scorecardresearch
 

बेटी की स्कूल फीस भरने में असमर्थ हैं ये एक्टर, स्कूल ने बेटी को ऑनलाइन क्लास से निकाला

लॉकडाउन की वजह से शूटिंग पर लगे रोक ने कई एक्टर्स व टेक्निशन की जॉब को खतरे में डाल दिया है. ऐसे में कई एक्टर्स काम की तलाश में हैं. काम नहीं मिल पाने की वजह से कई कलाकार कर्ज में भी डूब चुके हैं.

जावेद हैदर जावेद हैदर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • इन एक्टर्स को है शूटिंग खुलने का इंतजार
  • बेरोजगारी की वजह से असमर्थ हैं फीस भरनेे को
  • वक्त पर फीस नहीं जमा करने पर बेटी का हुआ ये हश्र

ग्लैमर इंडस्ट्री में किसी भी एक्टर के सितारे एक से नहीं होते हैं. ऐसे में जहां ये इंडस्ट्री आपको शौहरत व दौलत देती है, तो वहीं कई बार आपको अर्श से फर्श से लाकर रख दे. कैरेक्टर आर्टिस्ट जावेद हैदर, एक लंबे समय से फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े हैं. जावेद ने अपने करियर की शुरुआत बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट ही की थी. वे शत्रुघ्न सिन्हा के चाइल्ड आर्टिस्ट से लेकर गुलाम, दबंग 3, राधे जैसी लगभग 250 फिल्मों में काम कर चुके हैं. 

बचपन से एक्टिंग कर रहे जावेद हैदर कई अनगिनत फिल्मों का हिस्सा रहे हैं. हालांकि इस वक्त जावेद काम की कमी की वजह से जबरदस्त फाइनैंसियल क्राइसिस में हैं. नौबत यह है कि बेटी की स्कूल की फीस तक भरने के लिए उन्हें सोचना पड़ रहा है. 

शाहरुख खान की पठान में दीपिका पादुकोण का होगा हाई ऑक्टेन एक्शन सीन!

फीस माफी की गुहार लेकर स्कूल तक गया

आजतक से बातचीत के दौरान जावेद ने बताया, 'मेरी एक बेटी है, जो क्लास 8 में पढ़ती है. एक पिता होने के नाते मेरी कोशिश है कि मैं उसे बेहतर तालीम दिला सकूं. पहले जबतक काम चल रहा था, तो कोई दिक्कत नहीं आई. लेकिन पिछले कुछ दिनों से हालात खराब होते जा रहे हैं.  मेरी बेटी की ऑनलाइन क्लास चल रही है. तीन महीने की फीस तो उन्हें माफ की गई थी, लेकिन फिर हमें हर महीने लगभग 2500 रुपये भरने होते थे. ऐसे में मैं स्कूल गया और वहां एडमिनिस्ट्रेशन से बात की, तो उन्होंने यह कहा कि तीन महीने तो माफ किए थे.'

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Javed Hyder (@javedhyder)


पति के निधन के बाद मंदिरा बेदी का पोस्ट, फिर से शुरुआत करने का वक्त आ गया है

बेटी को ऑनलाइन क्लास से निकाल दिया था

जावेद आगे कहते हैं, 'मुझे समझ नहीं आता है कि स्कूल हम जैसे पैरेंट्स पर रहम क्यों नहीं करती है. लॉकडाउन होने की वजह से पिछले दो साल से बेटी की ऑनलाइन क्लासेस चल रही है. मैं वक्त में फीस भी जमा करता रहा. पिछले कुछ महीनों से फीस जमा नहीं कर पाया. ऐसे में उन्होंने मेरी बेटी को ऑनलाइन क्लास से निकाल दिया. कहीं से पैसे जमाकर जब फीस भरी, तब जाकर उसे बिठाया था. ज्यादा कंपलेन किया, तो बच्ची की पढ़ाई पर असर पड़ेगा. यह सोचकर ही मैं परेशान हो जाता हूं कि उन लोगों का क्या होगा, जिनकी महीने की ही सैलेरी ही 10 से 15 हजार है. वे अपने घर इस वक्त कैसे चला रहे होंगे. सरकार को इस पर कुछ करना चाहिए. स्कूल प्रसाशन से थोड़ी राहत दिलवानी चाहिए.'

इंडस्ट्री के लोगों से पैसे मांगने में आती है शर्म 

कई बड़े स्टार्स के साथ काम कर चुके जावेद कहते हैं, 'मुझसे कई बार लोगों ने कहा कि मैं उनसे मदद मांग लूं. थोड़ा बहुत नाम कमाया है. ऐसे में बोलने में भी शर्म आती है कहीं जुबान खराब हो जाए. पैसा ऐसी चीज होती है कि कभी आपने मांगा और सामने वाले ने आपको इग्नोर करना शुरू कर दिया, तो मुसीबत हो जाती है. कई बार आप काम के लिए कॉल कर रहे होते हैं, तो भी वो आपको इग्नोर करता चलता है. डर यही रहता है कि जो काम मिलने वाला भी होता है, वो हाथ से निकल न जाए. इसलिए नॉन फिल्मी दोस्तों से उधार या फिर बीवी के जेवर व घर के पेपर को गिरवी रखकर ही हम जैसे लोग काम चलाते हैं.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें