scorecardresearch
 

मनोरंजन से भरपूर है 'द जंगल बुक'

यह कहानी मोगली (नील सेठी) की है जो जन्म के बाद जंगल में पहुंच जाता है. और वो जंगल में हर दिन जीने की कोशिश करता है. एक तरफ जंगल के जानवर बलू, बघीरा, अकेला, रक्षा उसके साथ होते हैं तो वहीं राजा 'शेर खान' मानव के बच्चे को जंगल में स्वीकार नहीं करता है. यही कहानी आगे बढ़ती जाती है और आखिरकार एक बार फिर से मोगली के माध्यम से जीवन के संघर्ष का पता चलता है.

फिल्म का नाम : द जंगल बुक

डायरेक्टर: जॉन फेवरू

स्टार कास्ट: नील सेठी

अवधि: 1 घंटा 46 मिनट

सर्टिफिकेट: U/A

रेटिंग: 3.5 स्टार

डायरेक्टर जॉन फेवरू ने 'आयरन मैन' 'आयरन मैन 2 ' और 'शेफ' जैसी फिल्में डायरेक्ट की हैं साथ ही खुद एक मझे हुए एक्टर और प्रोड्यूसर भी हैं. इस बार जॉन ने फिल्म 'द जंगल बुक' को डायरेक्ट किया है , क्या यह फिल्म आपको उतना ही इंटरटेन करेगी, जितनी जॉन की बाकी फिल्में करती हैं ? आइये फिल्म की समीक्षा करते हैं-

कहानी:-
यह कहानी मोगली (नील सेठी) की है जो जन्म के बाद जंगल में पहुंच जाता है. और वो जंगल में हर दिन जीने की कोशिश करता है. एक तरफ जंगल के जानवर बलू, बघीरा, अकेला, रक्षा उसके साथ होते हैं तो वहीं राजा 'शेर खान' मानव के बच्चे को जंगल में स्वीकार नहीं करता है. यही कहानी आगे बढ़ती जाती है और आखिरकार एक बार फिर से मोगली के माध्यम से जीवन के संघर्ष का पता चलता है.

स्क्रिप्ट:-
वैसे तो 'द जंगल बुक' मशहूर राइटर 'रुडयार्ड किपलिंग' की कहानियों पर आधारित है और इस विषय में 60 के दशक में फिल्म बनाई जा चुकी है साथ ही भारत में 'दूरदर्शन' पर भी यह सीरीज दिखाई जाती थी. इस बार डायरेक्टर जॉन फेवरू ने बेहतरीन अंदाज में एनिमेटेड फ्लेवर जनता तक पहुंचाने की कोशिश की है. लिखावट को पर्दे पर शत प्रतिशत उतारा गया है, सिनेमेटोग्राफी, एनीमेशन और वीएफएक्स उच्च दर्जे के हैं.

अभिनय:-
फिल्म में वैसे तो जीवित एक ही प्राणी है जिसका नाम मोगली है, जिसे नील सेठी ने बखूब निभाया है, और फिल्म के दौरान कहीं भी ऐसा नहीं लगता की बाकी किरदार एनिमेटेड हैं. फिल्म के डायरेक्टर के निर्देश को नील सेठी ने उम्दा परफॉर्म किया है. साथ ही इस फिल्म को हिंदी और अंग्रेजी फिल्मों के मशहूर कलाकारों जैसे नाना पाटेकर, बेन किंग्स्ले, प्रियंका चोपड़ा, ओम पूरी, बिल मरे, इदरीस एल्बा , इरफान खान इत्यादि ने अपनी आवाज दी है, जिसे पर्दे के किरदारों पर सुनना काफी मनोरंजन से भरपूर है. एक तरफ ओम पूरी ने सीरियस बघीरा और नाना पाटेकर ने क्रोधित शेर खान को आवाज दी है वहीं इरफान खान ने पंजाबी स्टाईल में मोगली से बातचीत की है.

संगीत:-
फिल्म का बैकग्राउंड स्कोर लाजवाब है जो आपको हर तरह के इमोशंस से बाँध के रखता है.

क्यों देखें:-
अगर आपका जन्म 80 के दशक में हुआ हो तो 'द जंगल बुक' एक ऐसी फिल्म है जो आपको बचपन के दिनों की याद दिला देती है, और पूरे परिवार के साथ देखी जा सकती है. बच्चों को ज्यादा पसंद आएगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें