scorecardresearch
 

Film Review: क्लासिक फिल्म 'अभिमान' की याद दिलाती है 'की एंड का'

हर बार दर्शकों के बीच अलग तरह का कॉन्सेप्ट लेकर आने वाले निर्देशक आर बाल्कि इस बार हाउस हस्बैंड का विषय लेकर आए हैं. इस शुक्रवार रिलीज हो चुकी फिल्म 'की एंड का' कैसी रही, समीक्षा में जानिए.

पति-पत्नी के रोल में हैं अर्जुन और करीना पति-पत्नी के रोल में हैं अर्जुन और करीना

फिल्म का नाम: की एंड का
डायरेक्टर: आर बाल्की
स्टार कास्ट: अर्जुन कपूर, करीना कपूर खान, स्वरूप सम्पत, अमिताभ बच्चन, रजित कपूर
अवधि: 2 घंटा 6 मिनट
सर्टिफिकेट: U/A
रेटिंग: 2.5 स्टार

डायरेक्टर आर बाल्की की फिल्में हमेशा ही चर्चा का विषय बन जाती है, कभी वो 'चीनी कम' और 'पा' जैसी अनोखी कहानी सुनाते हैं, तो कभी 'शमिताभ' जैसा कॉन्सेप्ट लेकर आते हैं. इस बार तो 'की एंड का' के साथ हाउस हस्बैंड का विषय सबके सामने उजागर करने की कोशिश की है. कैसी है ये 'की एंड का', आइए फिल्म की समीक्षा करते हैं.

कहानीः
यह कहानी कबीर (अर्जुन कपूर) और कीया(करीना कपूर खान) की है. दोनों की मुलाकात चंडीगढ़-दिल्ली की फ्लाइट के दौरान होती है, फिर प्यार होता है जो फटाफट शादी में बदल जाता है. शादी के बाद रेगुलर घरों से अलग ये रिश्ता बन जाता है जहां 'कीया' ऑफिस जाया करती है वहीं कबीर को घर के काम करना ज्यादा पसंद है. अब ये रिश्ता दिन ब दिन कई सारे उतार-चढ़ाव से होकर गुजरता है और हमें थोड़ी-थोड़ी क्लासिक फिल्म 'अभिमान' की भी याद आ जाती है, कैसे? ये जानने के लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी.

स्क्रिप्टः
फिल्म की 'सोच' तो अच्छी है, लेकिन सोच को पूरी फिल्म में तब्दील कर पाने में मेकर विफल दिखाई देते हैं. इंटरवल तक माहौल बनाकर रखते हैं, लेकिन फिल्म का क्लाइमेक्स काफी धीमा और कमजोर सा दिखाई पड़ता है. हालांकि अमिताभ बच्चन और जया बच्चन का कैमियो एक सरप्राईज जैसा है लेकिन सेकंड हाफ को और भी बेहतर बनाया जा सकता था. पी सी श्रीराम की सिनेमेटोग्राफी हमेशा की तरह उम्दा रही है.

अभिनयः
फिल्म में हाउस हस्बैंड के किरदार में अर्जुन कपूर ने बखूब काम किया है जिसे देखकर कई सारी महिलाओं को ये लगने वाला है की उन्हें भी अर्जुन जैसा हस्बैंड चाहिए. वहीं करीना कपूर ने एक बार फिर से अपनी अदाओं और इमोशंस के साथ शत प्रतिशत अभिनय किया है. फिल्म में अमिताभ बच्चन और जया बच्चन का कैमियो एक तरह से सरप्राईज ट्रीट है.

संगीतः
फिल्म का गाना 'हाई हील' रिलीज से पहले ही हिट है, लेकिन 'जी हुजूरी' वाला गाना दिल छू जाता है जो टुकड़ों-टुकड़ों में अलग-अलग समय पर सुनाई पड़ता है. म्यूजिक के लिहाज से फिल्म करेक्ट है.

कमजोर कड़ीः
फिल्म की सबसे कमजोर कड़ी इसकी लिखावट है, खासतौर से सेकंड हाफ का हिस्सा और क्लाइमेक्स, जिसे और भी अच्छा एवं बेहतर किया जा सकता था.

क्यों देखें:
अगर आप अर्जुन कपूर, करीना कपूर खान या आर बाल्की की फिल्मों के दीवाने हैं, तो इसे जरूर देखें.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें