scorecardresearch
 

Film Review: जानिए कैसी फिल्म है 'हैप्पी न्यू ईयर'

शाहरुख खान और फराह खान के डेडली कॉम्बिनेशन वाली बहुप्रतीक्षित फिल्म 'हैप्पी न्यू ईयर' आज रिलीज हो गई है. जानें फिल्म में क्या है खास...

X
'हैप्पी न्यू ईयर' का पोस्टर
'हैप्पी न्यू ईयर' का पोस्टर

फिल्म: हैप्पी न्यू ईयर
रेटिंगः 3.5 स्टार
डायरेक्टरः फराह खान
कलाकारः शाहरुख खान, दीपिका पादुकोण, अभिषेक बच्चन, सोनू सूद, बमन ईरानी, जैकी श्रॉफ और विवान शाह

इस बात को किन्हीं मायनों में नहीं झुठलाया जा सकता कि बॉलीवुड पूरी तरह से हॉलीवुड की कॉपी करता है. लेकिन कुछ बातें हैं जो इसने शायद हॉलीवुड से नहीं सीखी हैं. सेंसिबल कहानी और व्यक्ति पूजा से ऊपर उठकर सोचना. इन्हीं बातों का नजारा सुपरस्टार्स अपनी हर फिल्म के साथ पेश करते हैं. वे यह बात समझ गए हैं कि मार्केट में उनका नाम चलता है, इसलिए कुछ भी परोसो कोई दिक्कत नहीं.

इसकी झलक हमें धूम-3, किक और बैंग बैंग में मिल चुकी हैं. तीनों ही फिल्में चोरी से जुड़ी थीं और कहानी के नाम पर दिमाग लगाने के लिए कुछ था ही नहीं. यही समझदारी फराह खान ने भी की है और शायद तीस मार खां में डकैती के जरिये जो वे सिद्ध नहीं कर सकी थीं, उसी बात की कसक को उन्होंने शाहरुख के जरिये पूरी करने की कोशिश की है.

कहानी का सेंट्रल थीम बेशक हीरों की डकैती है, लेकिन हर समय ऐसा ही लगता है कोई डांस कंपीटीशन चल रहा है. फराह खान ने शाहरुख की पुरानी फिल्मों का भी हैप्पी न्यू ईयर में काफी इस्तेमाल किया है. फिल्म में कॉमेडी, ऐक्शन और हर वह मसाला पिरोने की कोशिश की गई है, जो इसे एक बार देखने लायक तो बनाती ही है. अगर फिल्म की अवधि 20-25 मिनट कम होती तो ज्यादा अच्छा रहता.

कहानी में कितना दम
शाहरुख खान (चार्ली) को अपने पिता के अपमान का बदला जैकी श्रॉफ से लेना होता है. वह यह बदला उसके हीरे चुराकर लेना चाहता है. इसके लिए वे छह लोगों की टीम बनाता है और ये वर्ल्ड डांस चैंपियनशिप में हिस्सा लेने के बहाने से हीरे चोरी करने का प्लान बनाते हैं. इस टीम में दीपिका (मोहिनी), अभिषेक (नंदू भिडे), सोनू (जैग्स), बमन (टैमी) और विवान (रोहन) शामिल हैं. बस, असल जिंदगी के पिटे हुए लोगों की हीरे चुराने की कवायद इस तरह शुरू होती है. कहानी बॉलीवुड की हर 200-300 करोड़ रु. कमाने वाली फिल्मों की तरह है जिस पर ध्यान देने की जरूरत नहीं. वैसे भी फराह खान तीस मार खां के बाद अपना जादुई स्पर्श खोती नजर आ रही हैं. वे भव्यता के जाल में उलझती दिख रही हैं. वे शाहरुख खान का सही इस्तेमाल फिल्म में नहीं कर सकी हैं. साजिद खान की ही तरह फराह खान से भी कहना चाहूंगा कि उन्हें दर्शकों को थोड़ा गंभीरता से लेना चाहिए.

स्टार अपील
फिल्म की सबसे बड़ी खासियत इसके स्टार हैं. शाहरुख और दीपिका की जोड़ी ओम शांति ओम और चेन्नई एक्सप्रेस जैसी रिकॉर्ड तोड़ फिल्में दे चुकी है. दोनों इश्क फरमाते अच्छे लगते हैं, वैसे भी शाहरुख खान तो रोमांस के किंग हैं ही. शाहरुख खान के एट पैक्स और दीपिका का लवली सॉन्ग कमाल हैं और भीड़ खींचने के लिए काफी हैं. अभिषेक बच्चन, सोनू सूद, बमन ईरानी और विवान शाह ने भी अच्छा सपोर्ट किया है. अभिषेक को कॉमेडी फिल्मों पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए. पूरी टीम हंसाने और टाइम पास करने में सफल रही है.

कमाई की बात
शाहरुख की फिल्म हो तो घाटे का सवाल ही पैदा नहीं होता. उनकी मार्केटिंग स्ट्रैटेजी और फिल्म को लेकर तैयारी इतनी जबरदस्त होती है कि वे उसकी कमाई का बड़ा हिस्सा आसानी से निकाल लेते हैं. फिर प्रोड्यूसर वे खुद ही हों तो कहने ही क्या. फिल्म का बजट लगभग 150 करोड़ रु. बताया जाता है. फिल्म को लेकर हाइप काफी है. गाने भी अच्छे हैं. फेस्टिवल सीजन भी है. शाहरुख का विदेशों में मजबूत फैनबेस है. फिल्म कमाई के नए रिकॉर्ड बनाएगी कोई शुबहा नहीं. लेकिन शाहरुख जैसे सुपरस्टार को जरा कहानी पर ध्यान देने की शुरुआत कर देनी चाहिए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें