scorecardresearch
 

इरफान की कब्र देख बोले शेखर- क्या यहां के हालात बेहतर नहीं हो सकते?

शेखर ने इरफान की कब्र की फोटो शेयर की और अपने ट्वीट में लिखा- ये दिवंगत एक्टर इरफान खान की कब्र है. क्या ये आपको जिंदगी के बारे में कुछ सिखाती है? इतनी लोकप्रियता, अंतराष्ट्रीय सम्मान के बाद आप अकेले एक खराब हालातों में मौजूद कब्र में अकेले होते हैं. क्या इंडस्ट्री जागेगी और कम से कम इस जगह पर सफेद मार्बल के साथ एक खूबसूरत समाधि लेख तैयार करने की कोशिश करेगी? 

इरफान खान की कब्र और शेखर सुमन इरफान खान की कब्र और शेखर सुमन

शेखर सुमन पिछले कुछ समय से सोशल मीडिया पर कई मुद्दों पर अपनी राय रखते आ रहे हैं. सुशांत सिंह राजपूत मामले में उन्होंने काफी मुखरता दिखाई है और सुशांत के लिए लगातार जस्टिस की मांग की है. उन्होंने हाल ही में लेजेंडरी एक्टर इरफान खान की कब्र को लेकर भी कमेंट किया है और अपने ट्वीट में कहा है कि फिल्म इंडस्ट्री के लोगों को उनकी कब्र के हालातों को लेकर ध्यान रखने के लिए कहा. 

शेखर ने इरफान की कब्र की फोटो शेयर की और अपने ट्वीट में लिखा- ये दिवंगत एक्टर इरफान खान की कब्र है. क्या ये आपको जिंदगी के बारे में कुछ सिखाती है? इतनी लोकप्रियता, अंतराष्ट्रीय सम्मान के बाद आप अकेले एक खराब हालातों में मौजूद कब्र में अकेले होते हैं. क्या इंडस्ट्री जागेगी और कम से कम इस जगह पर सफेद मार्बल के साथ एक खूबसूरत समाधि लेख तैयार करने की कोशिश करेगी? 

बाबिल ने कहा, इरफान को प्रकृति और हरियाली में रहना पसंद था.

इससे पहले इरफान खान के बेटे बाबिल ने भी अपने पिता की कब्र को लेकर एक स्टेटमेंट जारी किया था. उन्होंने लिखा था- मेरे पिता को इसी तरह का अंदाज पसंद था. मेरी मां ने हाल ही में मेरे पिता की कब्र के आसपास मौजूद हरियाली को लेकर लिखा था क्योंकि कई फैंस को लग रहा था कि यहां काफी चीजें बिखरी और गंदी हुई पड़ी हैं. लेकिन आपको समझना होगा कि मेरे पिता हमेशा पेड़-पौधों और घास के आसपास रहना पसंद करते थे. हालांकि यहां से प्लास्टिक, कचरा और ऐसी ही गंदी चीजें हटा ली जाती हैं. 

इससे पहले इरफान के दोस्त चंदन भी उनकी कब्र पर पहुंचे थे. चंदन ने दो तस्वीरें शेयर की थी जिसमें एक फोटो में कब्रिस्तान के प्रवेश द्वार की तस्वीर थी वही दूसरी तस्वीर में इरफान की कब्र मौजूद थी. उन्होंने इन तस्वीरों के कैप्शन में लिखा- इरफान को कल से ही मिस कर रहा था. पिछले चार महीनों से मैं उस मकबरे में नहीं जा पाया हूं जहां इरफान मौजूद है. आज मैं गया, वो अकेला रेस्ट कर रहा है और वहां पेड़-पौधों के अलावा कुछ नहीं है. सिर्फ शांति है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें