scorecardresearch
 

जया बच्चन-रवि किशन को रूपा गांगुली, बोलीं- आवाज उठाना बहुत जरूरी

पूर्व एक्ट्रेस और बीजेपी सांसद रूपा गांगुली का भी बयान आया है. रूपा ने कहा कि रवि किशन ने फिल्म इंडस्ट्री बारे में जो कुछ कहा हैं वो बिलकुल ठीक है बस उनके शब्दों का चयन ठीक नहीं था. जया बच्चन ने जो कहा है वो ठीक है क्योंकि पूरी इंडस्ट्री खराब नहीं है. कंगना ने जो मुद्दे उठाए हैं उनमें भी सच्चाई है. 

रूपा गांगुली रूपा गांगुली

संसद के मानसून सत्र की शुरुआत में ही बॉलीवुड और ड्रग्स कनेक्शन छाया हुआ है. एक दिन पहले बीजेपी सांसद रवि किशन ने अपने भाषण में बॉलीवुड के ड्रग्स कनेक्शन के जांच की मांग की थी और कहा था कि इंडस्ट्री में ड्रग्स का कल्चर आम है. इसके बाद सपा सांसद जया बच्चन ने राज्यसभा में ड्रग्स के मुद्दे को उठाते हुए कहा कि ड्रग्स कनेक्शन के जरिए बॉलीवुड को बदनाम करने की साजिश चल रही है. कई लोगों ने फिल्म इंडस्ट्री के सहारे ही नाम कमाया. उन्होंने इसे गटर कहा. मैं इसका समर्थन नहीं करती हूं. ये वो लोग हैं जो जिस थाली में खाते हैं उसी में छेद करते हैं. 

इस मुद्दे पर अब पूर्व एक्ट्रेस और बीजेपी सांसद रूपा गांगुली का भी बयान आया है. रूपा ने कहा कि रवि किशन ने फिल्म इंडस्ट्री बारे में जो कुछ कहा हैं वो बिलकुल ठीक है बस उनके शब्दों का चयन ठीक नहीं था. जया बच्चन ने जो कहा है वो ठीक है क्योंकि पूरी इंडस्ट्री खराब नहीं है. कंगना ने जो मुद्दे उठाए हैं उनमें भी सच्चाई है. 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

@roopaganguly #roopaganguly

A post shared by Roopa Ganguly (@roopaganguly) on

शिवसेना जवाब दे, आखिर संजय राउत क्यों बने थे मुंबई पुलिस के प्रवक्ता: रूपा गांगुली

उन्होंने आगे कहा कि मैंने देखा है कि इसी इंडस्ट्री में बहुत कुछ खराब भी है. यहां बहुत से नए कलाकारों को फंसाया जाता है. कुछ बच जाते हैं, और कुछ फंस जाते हैं और कुछ का हाल सुशांत सिंह राजपूत की तरह हो जाता है. इतना जरूर है कि अब सही समय है कि इंडस्ट्री में फैली गलत चीजों के लिए आवाज उठानी चाहिए नहीं तो जब हमारे परिवार और बच्चों के साथ सुशांत सिंह राजपूत जैसा हाल होगा, तब हम समझेंगे. 

इस मामले में हो रही पॉलिटिक्स को लेकर रूपा ने कहा कि इस पूरे मामले में शुरूआत से ही राजनीति हो रही है. किसके कहने पर और कैसे बिहार पुलिस को मुंबई में रोका गया था, ये तो सब जानते हैं. संजय राउत शुरू से मुंबई पुलिस के प्रवक्ता बन गए थे. महाराष्ट्र सरकार को ये साफ करना चाहिए कि संजय राउत को आखिर मुंबई पुलिस का प्रवक्ता बनने की क्या जरूरत पड़ी. पुलिस को किसी भी प्रवक्ता की जरूरत नहीं है. राजनीति की शुरुआत उन लोगों ने की थी, किसी और ने नहीं. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें