scorecardresearch
 

Mithilesh Chaturvedi: सरकारी नौकरी छोड़कर मुंबई आए थे मिथिलेश चतुर्वेदी, जानें कैसे मिला था पहला रोल

लखनऊ के रहने वाले मिथिलेश चतुर्वेदी काफी सीधे-साधे और साधारण इंसान थे. उन्होंने अपने करियर की शुरुआत जिंदगी में काफी देर से की थी. मुंबई आने से पहले वह थिएटर आर्टिस्ट के रूप में काम करते थे. इतना ही नहीं वह लंबे समय तक वह सरकारी कर्मचारी भी रहे. इस बारे में मिथिलेश चतुर्वेदी ने अपने एक इंटरव्यू में बताया था.

X
मिथिलेश चतुर्वेदी
मिथिलेश चतुर्वेदी

बॉलीवुड एक्टर मिथिलेश चतुर्वेदी के निधन ने सभी को चौंका रख दिया है. 68 साल के मिथिलेश चतुर्वेदी हार्ट की बीमारी के चलते दुनिया को अलविदा कह गए हैं. उनके दामाद आशीष चतुर्वेदी ने इस बात की पुष्टि सोशल मीडिया पर की है. मिथिलेश के यूं अचानक चले जाने से फिल्म इंडस्ट्री में शोक की लहार दौड़ गई है. फैंस और सेलेब्स उन्हें याद कर रहे हैं.

कैसे मुंबई आए थे मिथिलेश?

लखनऊ के रहने वाले मिथिलेश चतुर्वेदी काफी सीधे-साधे और साधारण इंसान थे. उन्होंने अपने करियर की शुरुआत जिंदगी में काफी देर से की थी. मुंबई आने से पहले वह थिएटर आर्टिस्ट के रूप में काम करते थे. इतना ही नहीं वह लंबे समय तक वह सरकारी कर्मचारी भी रहे. इस बारे में मिथिलेश चतुर्वेदी ने अपने एक इंटरव्यू में बताया था.

एक यूट्यूब चैनल को दिए इंटरव्यू ने मिथिलेश चतुर्वेदी ने अपने फिल्मी करियर और जिंदगी के बारे में बात की थी. उन्होंने बताया था कि वह मुंबई कैसे आए. मिथिलेश ने कहा था, 'मैं नाटक करता था. नाटक करते-करते मैंने पूरा भारत घूमा. फिर मैंने सोचा नदी घूम ली है, अब समंदर में छलांग लगा लेनी चाहिए. तो मैं मुंबई आ गया. यहां आकर काम मिलना मुश्किल था लेकिन मैं ऊपर वाले का नाम लेकर कोशिश करता रहा और उसने मेरी सुन ली.' 

एक्टिंग से पहले करते थे सरकारी नौकरी 

उन्होंने आगे कहा, 'बम्बई आने से पहल हम लखनऊ में थिएटर करते थे. थिएटर के साथ-साथ सरकारी नौकरी में भी थे. तकरीबन 25 साल सरकारी नौकरी की. जब देखा कि नौकरी पेशनेबल हो गई है, तो मैंने वोलंटरी रिटायरमेंट ले ली और कूदकर मुंबई आ गया. मैं डरा हुआ था लेकिन मुझे ऊपर वाले पर विश्वास भी था.' 

अपने प्रोजेक्ट्स के बारे में बात करते हुए मिथिलेश चतुर्वेदी ने कहा था, 'मेरा सबसे पहला प्रोजेक्ट था सीरियल उसूल, जिसमें डेनी (डेंगजोंग्पा) मेरे साथ थे. फिर डीडी नेशनल के शो न्याय में रोल मिला था. वैसा रोल मुझे कभी दोबारा नहीं मिला. सत्या मिली फिर फिल्म भाई भाई की. फिर काम करते रहे. फिल्मों का सिलसिला ज्यादा नहीं चला, क्योंकि मैं आलसी आदमी हूं. मेरी पीआरशिप खराब रही हैं. मेरी पीआरशिप अल्लाह मिया करते हैं तो मुझे काम मिलता है.'

राकेश रोशन ने कही थी ये बात

इसी बारे में उन्होंने आगे बताया था, 'राकेश रोशन जी का फोन आया था मुझे. उन्होंने कहा कि आपका नंबर मेरे पास नहीं था. आपका नंबर ढूढ़ने के लिए मैंने कुओं में बात डलवा दी थी. तो मैं मानता हूं कि जो आपको मिलना होता है, मिल ही जाता है.' राकेश रोशन की फिल्म 'कोई... मिल गया' में मिथिलेश ने काम किया था. उन्होंने ऋतिक रोशन के किरदार रोहित के कंप्यूटर टीचर की भूमिका निभाई थी. उनके काम को आज भी याद किया जाता है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें