scorecardresearch
 

करीना का हीरो, करण जौहर का मेहमान, बॉलीवुड में स्टार नहीं बनना चाहते दिलजीत दोसांझ

दिलजीत दोसांझ आजकल सुर्खियों में आए हुए हैं. एक इंटरव्यू में एक्टर ने कह दिया है कि उन्हें बॉलीवुड स्टार बनने की कोई इच्छा नहीं है. उन्हें केवल म्यूजिक से प्यार है. कोई अगर स्टार है तो वह अपने घर पर है. बस इतना कहने के बाद दिलजीत ने ट्रोल्स को न्यौता दे दिया है.

X
दिलजीत दोसांझ दिलजीत दोसांझ

एक्टर दिलजीत दोसांझ अपनी स्टाइलिंग के लिए खूब चर्चा में रहते हैं. इंस्टाग्राम पर इनकी एक पोस्ट पर लाखों की तादाद में व्यूज आ जाते हैं. सिर्फ इतना ही नहीं, दिलजीत दोसांझ पंजाबी फिल्म इंडस्ट्री के हिट एक्टर्स में शुमार हैं. बॉलीवुड इंडस्ट्री में दिलजीत ने फिल्म 'उड़ता पंजाब' से कदम रखा था. शाहिद कपूर, आलिया भट्ट और करीना कपूर संग दिलजीत ने स्क्रीन शेयर की थी. इसके साथ ही 'फिलौरी', 'सूरमा', 'अर्जुन पटियाला', 'गुड न्यूज' और 'सूरज पे मंगल भारी' जैसी फिल्मों में काम किया. हाल ही में अली अब्बास जफर की फिल्म 'जोगी' में यह लीड रोल में नजर आए. फिल्म सरदारों के दंगों पर आधारित है, लेकिन जो दिलजीत ने फिल्म में काम किया है, वह काबिले-तारीफ है. बेहद ही शानदार अभिनय. 

दिलजीत ने दिया विवादित बयान!
एक्टर दिलजीत दोसांझ आजकल सुर्खियों में आए हुए हैं. वह भी अपने एक स्टेटमेंट के चलते. दरअसल, दिलजीत से पूछा गया कि क्या वह अपना समय बॉलीवुड इंडस्ट्री में एन्जॉय कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि सुपरस्टार होंगे अपने घर पर. बाकी मैं चुप रहूंगा, क्योंकि कॉन्ट्रोवर्सी होने लगेगी. बस इतना कहकर दिलजीत ने कई ट्रोल्स को न्यौता दे दिया है. फिल्म कंपैनियन में अनुपमा चोपड़ा संग बातचीत में दिलजीत ने कहा, "बॉलीवुड स्टार बनने की मेरी कोई इच्छा नहीं है. मुझे केवल अपने म्यूजिक से प्यार है. मैं अपना म्यूजिक खुद बनाता हूं. कोई सुपरस्टार आकर मुझे यह नहीं कह सकता कि मुझे इस तरह का म्यूजिक बनाना चाहिए. या फिर यह गाना इस तरह से नहीं, इस तरह से काम करेगा और फैन्स को पसंद आएगा. मेरे लिए ये चीजें काम नहीं करेंगी. मैं अपने आप में मस्त मौला इंसान हूं. पंजाबी इंडस्ट्री को देखा जाए तो वहां के आर्टिस्ट अपने आप पर निर्भर होते हैं. हम सभी के लिए यह काफी गर्व महसूस करने वाली बात है. हम सभी आजादी महसूस करते हैं. मैं म्यूजिक तब तक बनाता रहूंगा, जब तक मैं चाहूंगा. जब तक भगवान मेरे अंदर यह गुण रखेंगे. मुझे फर्क नहीं पड़ता कि मुझे बॉलीवुड में काम मिले या नहीं."

सिर्फ यही नहीं, दिलजीत दोसांझ समय-समय पर इंटरव्यूज के जरिए बॉलीवुड और पंजाबी इंडस्ट्री के प्रति अपनी राय खुलकर रखते नजर आए हैं. कुछ मुद्दे ऐसे हैं, जिन्हें पढ़कर आपको भी लगेगा कि बात तो दिलजीत सही कह रहे हैं. 

क्या दिलजीत का हिंदी सिनेमा में रहा अच्छा एक्सपीरियंस?
इस सवाल पर पहले तो दिलजीत खूब हंसे, फिर बोले कि अगर मैं इसके बारे में बोलूंगा तो यह बहुत बड़ा मुद्दा बन जाएगा. मुझे लगता है कि कुछ इस तरह के सवालों का जवाब देना मुझे इग्नोर करना चाहिए. आपकी आंखें सबकुछ रिवील कर देती हैं. जरूरी नहीं कि हम अपनी बात को शब्दों में ही रखें. और मुझे लगता है कि फिल्ममेकिंग एक ऐसा मीडियम है, जहां आपको लाइन्स मिलती हैं और बोलनी पड़ती हैं. आपके पास आपका चेहरा है, आपके एक्स्प्रेशन्स हैं और आपकी आंखे हैं जो सबकुछ रिवील करती हैं. स्क्रीन पर भी तो आप यही देखते हो. मैं किसी भी व्यक्ति के लिए पागल नहीं हूं. न तो एक्टर के लिए, न डायरेक्टर के लिए, किसी के लिए नहीं. वो लोग अपने घर में होंगे सुपरस्टार्स. 

दिलजीत एक बात तो अपने इंटरव्यूज में सुनिश्चित करते हैं कि वह जो भी कह रहे हैं, लोग उनकी पूरी बात को गौर से सुनें. कॉमेडी के मामले में भी दिलजीत काफी मस्त हैं. कॉमेडी करने की इनकी टाइमिंग एकदम करेक्ट नजर आती है. करण जौहर के चैट शो 'कॉफी विद करण' में दिलजीत अपने दोस्त बादशाह के साथ बतौर गेस्ट आए थे. दर्शकों के लिए यह शो काफी गुदगुदाने वाला था. ऑडियन्स ने सोचा था कि दिलजीत काफी शांत स्वभाव के होंगे, लेकिन हुआ इससे उलट. दिलजीत ने इसी शो में बताया था कि जब वह बचपन में गुरुद्वारा जाते थे तो केवल एक ही प्रार्थना करते थे कि भगवान मैं किसी को न जानूं, सब मुझे जानें. इसके बाद दिलजीत ने अमेरिकन सेलिब्रिटी कायली जेन्नर के प्रति अपने प्यार को, फैसीनेशन को जाहिर किया था. अपने पुराने रिलेशनशिप्स पर खुलकर बात की थी, बादशाह और करण जौहर को अपने वन लाइनर्स से ही खूब गुदगुदाने की भी कोशिश की थी. 

दिलजीत ने बताया था कि उनमें केवल एक ही कमी है, उन्हें इंग्लिश नहीं आती. दिलजीत ने अनुपमा चोपड़ा के एक इंटरव्यू में इस बात को कॉन्फेस किया था. दिलजीत का यह भी कहना था कि कई लोग इस बात को इंटरव्यू में नहीं कहेंगे, क्योंकि उनके इंटरव्यू को लोग बाद में भी देख सकते हैं, उसके बारे में बात कर सकते हैं. लेकिन मैं तो खुलकर बोलने वाला बंदा हूं. जो चीज मुझे नहीं पता, वो अपनाता हूं. हां, इतना जरूर है कि इंग्लिश अगर मुझे आती तो मैं लाइफ में और सक्सेसफुल होता. 

करण जौहर के प्रोडक्शन हाउस को लेकर किया दिलजीत ने ये खुलासा
दिलजीत ने इंटरव्यू में कहा था कि एक बार करण जौहर के धर्मा प्रोडक्शन से उन्हें फिल्म ऑफर हुई थी, लेकिन बाद में वह रोल किसी और को दे दिया गया था. बाद में करण जौहर के प्रोडक्शन हाउस के साथ दिलजीत ने 'गुड न्यूज' फिल्म की. दिलजीत ने इस सिलसिले में बताया था कि मुझे नहीं लगा था ये लोग फिल्म देंगे. मैं जाना नहीं चाहता था. फिल्म के लिए उन्होंने ऑडिशन भी नहीं करवाया. और अगर ऑडिशन के लिए कहते तो मैं करता नहीं. क्योंकि मुझे जब पहली फिल्म नहीं दी तो मैं नहीं जाना चाहता था. धर्मा ने मेरा ऑडिशन बिना लिए ही फिल्म दे दी. अगर ये ऑडिशन को मुझे बोलते तो मैं ऑफर ठुकरा देता. 

बॉलीवुड की कोई पार्टी अटेंड नहीं करते दिलजीत
शोबिज एक स्टार को काफी लाइमलाइट देता है. इससे व्यक्ति पॉपुलर भी होता है. सिंगर-एक्टर दिलजीत का मानना है कि वह एक बहुत अलग किस्म के इंसान हैं. दिलजीत ने बीबीसी को दिए इंटरव्यू में कहा था कि वह किसी चीज के आदी नहीं हैं. वह स्मोक नहीं करते, ड्रिंक नहीं करते. ड्रग्स का सेवन नहीं करते. खुद को रीफ्रेश महसूस करने के लिए वह गुरबानी बोलते हैं. सुबह में नहाते समय वह ऐसा करना पसंद करते हैं. 

शुरुआती दिनों को याद करते हुए दिलजीत ने कहा कि पहले लोगों के अंदर सिख को लेकर कई चीजें थीं. जब पंजाबी फिल्मों में कदम रखने का दिलजीत ने सोचा था तो लोगों ने कहा था कि वह सक्सेसफुल नहीं हो पाएंगे. सिख हैं इसलिए. एक सरदार, फिल्मों में नजर नहीं आ सकता. न ही फिल्म कर सकता. लेकिन दिलजीत ने एक फिल्म की. वह हिट हो गई. और फिर और भी सिख लोग फिल्मों में आने लग गए. उन्हें रोल्स ऑफर होने लग गए. हिंदी प्रोजेक्ट्स के लिए तो कई बार दिलजीत को यह सुनना पड़ गया कि वह सरदार हैं, उसे ले नहीं सकते. हिंदी वाले लोग इसे पसंद नहीं करेंगे. पंजाबी सिनेमा के लिए सही है वो. और देखो मुझे हिंदी मूवी से ही फिर ऑफर आ गया. पंजाबी और हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में काफी भेदभाव देखने को मिला है. 

दिलजीत की आ रही कॉमेडी फिल्म
दिलजीत दोसांझ कॉमेडी फिल्म 'बाबे भंगड़ा पौंदे ने' में बतौर लीड एक्टर नजर आने वाले हैं. फिल्म का ट्रेलर रिलीज हुआ है, जिसमें दिलजीत की शानदार कॉमेडी टाइमिंग देखने को मिली है. दिलजीत एक मिडिल क्लास परिवार से ताल्लुक रखते हैं और वह रातों-रात मशहूर होना चाहते हैं. पहले तो वह 'गैलेक्सी चड्डी' को बेचने का ऑफर लेकर एक कंपनी के पास जाते हैं. फिर बाद में एक अमीर 'पिता' को गोद लेने का सोचते हैं, जिससे उनके मरने के बाद उनके इंश्योरेंस के पैसे उन्हें मिल जाएं और वह रातों-रात अमीर हो जाएं. बस यही से शुरुआत होती है रोलर-कोस्टर राइड. जिस 'पिता' को फिल्म में दिलजीत गोद लेते हैं, उनकी तबीयत बिगड़ने लगती है और धीरे-धीरे चैलेंजेज सामने आने लगते हैं. फिल्म का ट्रेलर ही जब इतना मजेदार साउंड कर रहा है तो फिल्म भी देखनी बनती ही है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें