scorecardresearch
 

कंगना रनौत की 'इमरजेंसी' पर कांग्रेस का विरोध, हल्ला बोल की तैयारी

असल में बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा 46 साल पहले देश में लगाई गई इमरजेंसी पर फिल्म बनाने जा रही हैं. इमरजेंसी नाम की इस फिल्म में वह न सिर्फ इंदिरा गांधी का किरदार निभाएंगी, बल्कि उसका डायरेक्शन भी खुद ही करेंगी. इंदिरा गांधी के किरदार को करीब से जानने और फिल्म को बेहतरीन बनाने की नीयत से कंगना अगले महीने उनकी जन्मस्थली और कर्मभूमि संगम नगरी प्रयागराज आने वाली हैं.

कंगना रनौत कंगना रनौत
स्टोरी हाइलाइट्स
  • इंदिरा गांधी द्वारा लगाई गई इमरजेंसी पर बनेगी फिल्म
  • कंगना रनौत निभा रही है इंदिरा गांधी का किरदार
  • कांग्रेसियो ने कहा कि कंगना को आंनद भवन पर घुसने नही देंगे
  • इंदिरा की छवि बिगाड़ने का लगाया आरोप

आयरन लेडी के नाम से मशहूर, भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा लगाई गई इमरजेंसी पर बनने वाली फिल्म और इंदिरा गांधी का किरदार निभाने वाली एक्ट्रेस कंगना रनौत को लेकर प्रयागराज में कांग्रेसियों ने हल्ला बोल दिया है. फिल्म को लेकर कंगना के अगले महीने प्रयागराज में इंदिरा गांधी के पैतृक आवास आनंद भवन आने की उम्मीद भी है. लेकिन फिल्म को लेकर नाराज कांग्रेसियों ने कंगना का विरोध करने की ठान ली है. वही बीजेपी ने इस फिल्म के बनने पर कांग्रेसियों की दुकान बंद होने का खतरा बताया है. 

कंगना की फिल्म पर सियासत

असल में बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा 46 साल पहले देश में लगाई गई इमरजेंसी पर फिल्म बनाने जा रही हैं. इमरजेंसी नाम की इस फिल्म में वह न सिर्फ इंदिरा गांधी का किरदार निभाएंगी, बल्कि उसका डायरेक्शन भी खुद ही करेंगी. इंदिरा गांधी के किरदार को करीब से जानने और फिल्म को बेहतरीन बनाने की नीयत से कंगना अगले महीने उनकी जन्मस्थली और कर्मभूमि संगम नगरी प्रयागराज आने वाली हैं.

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Kangana Ranaut (@kanganaranaut)

हालांकि कंगना रनौत के प्रयागराज आने से पहले ही सियासी संग्राम छिड़ गया है. उनके दौरे को लेकर बीजेपी और कांग्रेस आमने-सामने आ गए हैं. साथ ही इमरजेंसी फिल्म के बहाने इंदिरा गांधी की छवि खराब करने और 2022 में बीजेपी को चुनावी फायदा पहुंचाने का भी आरोप लगा रही है. 

राज कुंद्रा की गिरफ्तारी पर बोलीं कंगना, बोला था गटर है मूवी इंडस्ट्री, जल्द करूंगी बड़े खुलासे

वहीं दूसरी तरफ बीजेपी यह सवाल खड़े कर रही है कि इंदिरा के नाम पर इतराने वाली कांग्रेस उन्हीं के द्वारा लगाई गई इमरजेंसी का जिक्र छिड़ते ही तिलमिला क्यों रही है. कांग्रेस ने कंगना को प्रयागराज में घुसने नहीं देने का ऐलान किया है तो वहीं बीजेपी ताल ठोंककर यह दावा कर रही है कि राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार से सम्मानित देश की बेटी कंगना को योगी सरकार के कानून के राज में कोई भी प्रयागराज आने से जबरन रोक नहीं सकता है.

खुद फिल्म का निर्देशन करेंगी कंगना

करीब महीनेभर पहले जब कंगना रनौत ने फिल्म का नाम इमरजेंसी बताकर इसका डायरेक्शन भी खुद ही करने का दावा किया, तो फिल्म नगरी से लेकर सियासी गलियारों में कानाफूंसी शुरू हो गई थी. बाद में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स के जरिए यह बात भी साफ हो गई कि इमरजेंसी फिल्म इंदिरा गांधी के पूरे जीवन पर नहीं, बल्कि सिर्फ प्रधानमंत्री रहते हुए 25 जून 1975 को उनके द्वारा देश में लगाए गए आपातकाल पर ही आधारित होगी, फिर तो चर्चाओं का बाजार गर्म होने लगा. कांग्रेस को सिर्फ इमरजेंसी पर फिल्म बनाए जाने को लेकर ही एतराज है. 

कांग्रेस नेता ने बताया बीजेपी की तोती

कांग्रेस नेता बाबा अभय अवस्थी के मुताबिक, कंगना के ट्वीट से ये बात साफ हो गई है कि वे पीएम मोदी के तोती के रुप में काम कर रही हैं और सियासी फायदे के लिए ये फिल्म बन रही है. इसके जरिए आयरन लेडी, पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की छवि को खराब करने की कोशिश होगी. उन्होंने कहा है कि अगर फिल्म बनती है तो उनके जीवन के सभी पहलुओं को फिल्म में शामिल करना चाहिए. कांग्रेस ने लोकतान्त्रिक ढंग से कंगना के प्रयागराज दौरे का विरोध करने की बात कही है. कांग्रेसियों ने कहा है कि कंगना को आनंद भवन और स्वराज भवन में घुसने नहीं देंगे और शहर में भी उनका विरोध किया जाएगा.

कंगना रनौत करने जा रही हैं अपना डिजिटल डेब्यू, प्यार के इस रिएलिटी शो को करेंगी होस्ट

भाजपा नेता का जवाब

वहीं इमरजेंसी के नाम पर कांग्रेस की तिलमिलाहट पर भाजपा भी हमलावर है. चायल कौशाम्बी से भाजपा विधायक संजय गुप्ता ने भी कांग्रेस के विरोध को बेवजह करार दिया है. उन्होंने कहा है कि कांग्रेस कंगना का विरोध कर अपनी बौखलाहट ही दिखा रही है. लेकिन बीजेपी की सरकार ने कंगना को प्रयागराज आने से कोई नहीं रोक सकता है. उन्होंने कहा है कि सभी नियमों का पालन करते हुए फिल्म बननी चाहिए और सेंसर बोर्ड उसे पास करेगा तो जनता फिल्म की सफलता और असफलता को तय करेगी. कांग्रेस को इस बात का अधिकार नहीं है कि वो किसी फिल्मी कलाकार को देश में कहीं भी आने और जाने से रोकें.

इस बीच कंगना ने फेसबुक से लेकर इंस्टाग्राम और कू तक पर इंदिरा का किरदार निभाने की तैयारियों के लिए किए जा रहे मेकअप की कुछ तस्वीरों के साथ यह दावा भी कर डाला कि इमजरेंसी फिल्म का डायरेक्शन उनसे बेहतर कोई दूसरा कर ही नहीं सकता. कंगना ने फिल्म की स्क्रिप्ट मशहूर लेखक रितेश शाह से तैयार कराई है. इमरजेंसी फिल्म को लेकर कंगना ने उत्साह दिखाते हुए दावा किया था कि अगर इस फिल्म को पूरा करने के लिए उन्हें कुछ दूसरे प्रोजेक्ट्स छोड़ने भी पड़ेंगे तो वह उसके लिए तैयार रहेंगी. कंगना का 25 अगस्त के आस पास दो दिनों के लिए प्रयागराज आने का कार्यक्रम बन रहा है. कंगना के दौरे को लेकर भले ही सियासत गर्म हो, लेकिन राजनीति के जानकार इमरजेंसी पर फिल्म बनाये जाने का ही समर्थन कर रहे हैं. उनके मुताबिक कंगना देश के सामने सच्चाई ला रही हैं. इसलिए उनका विरोध अनुचित है.

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Kangana Ranaut (@kanganaranaut)

23 जुलाई: रिलीज होगी शिल्पा शेट्टी की 'हंगामा 2', राज कुंद्रा पर कोर्ट का फैसला, दांव पर करियर!

प्रयागराज में बीता था इंदिरा का बचपन

इंदिरा के किरदार और इमरजेंसी के हालात को और बेहतर तरीके से समझने के लिए कंगना रनौत संगम नगरी प्रयागराज आने वाली हैं. वे प्रयागराज में जहां इंदिरा गांधी का जन्म हुआ, जहां वह पली-बढ़ीं, जहां उन्होंने सियासत की एबीसीडी सीखी, जहां वानर सेना बनाकर उन्होंने अंग्रेजों के खिलाफ बगावत का बिगुल फूंका, जहां उनका ब्याह हुआ और जहां उन्होंने अपने पिता के चुनाव की कमान संभाली थी. 

कंगना उस प्रयागराज में आएंगी जो देश में इमरजेंसी लगाने का सबब बना, जहां के हाईकोर्ट के फैसले की वजह से देश में पहली और आखिरी बार आपातकाल लगा, जहां रहने वाले जज का निर्णय देश में इमरजेंसी लगाने की वजह बना और जहां आनंद भवन व स्वराज भवन के रूप में इंदिरा का पुश्तैनी घर आज भी आबाद नजर आता है. कांग्रेस नेता अभय अवस्थी के मुताबिक स्वरुप रानी पार्क से लेकर आनन्द भवन, स्वराज भवन, संगम जैसे कई महत्वपूर्ण स्थल हैं जो कि इंदिरा जी से जुड़े रहे हैं, लेकिन उन्होंने कहा है कि इस फिल्म में इमरजेंसी से पीड़ितों को भी जरुर दिखाएं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें