scorecardresearch
 
बॉलीवुड

करीना-कंगना की इन फिल्मों में दिखा है कास्ट‍िंग काउच का सच

फैशन-हीरोइन (फिल्म पोस्टर)
  • 1/6

पिछले कुछ दिनों से 'कास्ट‍िंग काउच' मुद्दे पर चर्चा गरम है. सेलेब्स बॉलीवुड में होने वाले कास्ट‍िंग काउच पर खुलकर बात रख रहे हैं. बॉलीवुड में इस मुद्दे पर कई फिल्में भी बन चुकी हैं. कंगना रनौत, प्रियंका चोपड़ा और मुग्धा गोडसे की फिल्म फैशन से लेकर करीना कपूर की हीरोइन तक, बॉलीवुड की कुछ फिल्मों में कास्ट‍िंग काउच जैसे संजीदा  मामले को बखूबी दिखाया गया है. आइए जानें उन फिल्मों के नाम. 
 

इनकार
  • 2/6

चित्रांगदा सिंह और अर्जुन रामपाल स्टारर फिल्म इनकार में यौन शोषण का मुद्दा दिखाया गया है. सुधीर मिश्रा के निर्देशन में बनी इस फिल्म ने कॉरपोरेट जगत में होने वाले कास्ट‍िंग काउच पर फोकस किया है. 
 

कॉरपोरेट
  • 3/6

2006 में रिलीज फिल्म कॉरपोरेट में कॉरपोरेट जगत के पहलुओं को जाहिर करती है. इस फिल्म में बिपाशा बसु ने मुख्य भूमिका निभाई थी. फिल्म में दिखाया गया है कि महिलाओं को समाज में अपना ओहदा बनाए रखने के लिए समझौता करना पड़ता है. 
 

हीरोइन
  • 4/6

करीना कपूर स्टारर फिल्म हीरोइन में कास्ट‍िंग काउच मुद्दे को दिखाया गया था. इस फिल्म का निर्देशन मधुर भंडारकर ने किया है. फिल्म में दिखाया गया है कि कैसे लड़कियां एक्ट्रेस बनने की जद्दोजहद में किसी भी सीमा को पार करने के लिए तैयार हो जाती हैं. फिल्म में इस बात को भी साफ तौर पर दिखाया गया है कि बड़ी बजट की फिल्मों में लीड रोल पाने के लिए एक्ट्रेसेज को समझौता भी करना पड़ता है. 
 

फैशन
  • 5/6

मधुर भंडारकर के निर्देशन में बनी फिल्म फैशन में कास्ट‍िंग काउच को पेश किया गया है. कंगना रनौत, प्रियंका चोपड़ा और मुग्धा गोडसे स्टारर इस फिल्म का मुख्य मुद्दा ही ग्लैमर इंडस्ट्री का कास्ट‍िंग काउच था. इसे दर्शकों की खूब सराहना मिली थी. फिल्म के स्क्रीनप्ले, सिनेमैटोग्राफी, म्यूजिक, डायरेक्शन और परफॉर्मेंस की जमकर तारीफ हुई थी. 
 

कैलेंडर ग्लर्स
  • 6/6

फैशन, हीरोइन जैसी फिल्में बनाने वाले डायरेक्टर मधुर भंडारकर ने कास्ट‍िंग काउच मुद्दे को अपनी फिल्म कैलेंडर ग्लर्स में भी पेश किया है. 2015 में रिलीज इस फिल्म में पांच मॉडल्स की कहानी को दर्शाया गया है जो अलग-अलग शहरों से बिकिनी टैलेंट हंट में हिस्सा लेने आती हैं. कैसे छोटे शहरों की लड़कियों को आसान टारगेट बनाया जाता है और टैलेंट हंट के नाम पर उनका शोषण किया जाता है.