scorecardresearch
 

उत्तराखंड में बीजेपी विधायक पर आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप, चुनाव आयोग ने मांगा जवाब

कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री बालकृष्ण ने जिला निर्वाचन अधिकारी व जिलाधिकारी को दिए शिकायती पत्र में कहा कि भाजपा के विधायक चंदन राम दास ने चुनाव आचार संहिता लगने के बाद गरुड़ विकास खंड के अणां गांव में सार्वजनिक रूप से अपील कर भीड़ जुटाई. ये कोरोना गाइडलाइन और आचार संहिता दोनों का खुलेआम उल्लंघन है.

प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बीजेपी विधायक चंदन राम दास पर भीड़ जुटाने का आरोप
  • चुनाव आयोग ने 24 घंटे में मांगा जवाब

उत्तराखंड में बागेश्वर से बीजेपी विधायक चंदन राम दास को चुनाव आयोग ने चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में नोटिस जारी कर 24 घंटे में जवाब मांगा है. आरोप है कि चंदन दास ने अपनी विधानसभा में जाकर भीड़ इकट्ठी की और कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन किया. 

इतना ही नहीं आरोप है कि विधायक दास ने जनता के बीच जाकर कुछ मुफ्त में सामान भी बांटा. इसके बाद यहां अफरा तफरी का माहौल भी बन गया. इस मामले में कांग्रेस की शिकायत के बाद चुनाव आयोग एक्शन में आया है. 

कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री बालकृष्ण ने जिला निर्वाचन अधिकारी व जिलाधिकारी को दिए शिकायती पत्र में कहा कि भाजपा के विधायक चंदन राम दास ने चुनाव आचार संहिता लगने के बाद गरुड़ विकास खंड के अणां गांव में सार्वजनिक रूप से अपील कर भीड़ जुटाई. ये कोरोना गाइडलाइन और आचार संहिता दोनों का खुलेआम उल्लंघन है. बालकृष्ण ने अपने शिकायती पत्र के साथ घटना का वीडियो क्लिप भी भेजा है. आयोग ने दास से जवाब तलब किया है. 

यूपी में बीजेपी के घर-घर जनसंपर्क अभियान पर प्रतिबंध की मांग

उधर, उत्तर प्रदेश में कांग्रेस एमएलसी दीपक सिंह ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर बीजेपी के घर-घर जनसंपर्क अभियान पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है. दीपक सिंह ने बीजेपी के कार्यकर्ताओं पर कोरोना फैलाने का आरोप लगाते हुए पत्र में कहा है कि दरअसल राधा मोहन सिंह 10 जनवरी को बीजेपी के पार्टी कार्यालय में हुई चुनाव समिति की बैठक में शामिल हुए थे. इसके बाद उनकी टेस्ट रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है.

दीपक सिंह ने कहा, इस बैठक में कई ऐसे नेता भी शामिल हुए थे जो राधा मोहन सिंह के निकट संपर्क में आए थे और इन दिनों बीजेपी के लिए घर-घर जाकर प्रचार संपर्क कर रहे हैं. वो गांव शहर कस्बों में घर घर में जाकर लोगों से मिल रहे हैं. न तो उन्होंने अपनी कोरोना जांच कराई और ना ही पूरा एहतियात बरत रहे हैं. उनसे कोविड संक्रमण फैलने का पूरा खतरा है.

ये भी पढ़ें:

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×