scorecardresearch
 

ढाक के तीन पात, मुलायम सिंह की 15 मिनट की पीसी की ये हैं बस 3 बात

सपा का संकट अभी टला नहीं है. हमेशा की तरह इस बार भी समाजवाद पार्टी के मुखिया ने अपनी बहुप्रतीक्षित प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में सिर्फ यही राग अलापा. हम सब एक हैं....पार्टी एक है और मैं ही पार्टी का सर्वेसर्वा हूं. हर बार की तरह जहां इस बार भी उन्‍होंने पहले सपा को खून से सींचने की कहानी सुनाई वहीं अंतिम तक यह स्‍पष्‍ट कर दिया कि भाई भाई है और बेटा बेटा. जिस पर बवाल मचा है, उस पर वो पूरी तरह से खामोश रहे. आइए जानें ड़ेढ़ महीने के इस बवाल की 15 बातें...

बेटे और भाई के बीच फंसे मुलायम सिंह यादव बेटे और भाई के बीच फंसे मुलायम सिंह यादव

सपा का संकट अभी टला नहीं है. हमेशा की तरह इस बार भी समाजवाद पार्टी के मुखिया ने अपनी बहुप्रतीक्षित प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में सिर्फ यही राग अलापा. हम सब एक हैं....पार्टी एक है और मैं ही पार्टी का सर्वेसर्वा हूं. हर बार की तरह जहां इस बार भी उन्‍होंने पहले सपा को खून से सींचने की कहानी सुनाई वहीं अंतिम तक यह स्‍पष्‍ट कर दिया कि भाई भाई है और बेटा बेटा. जिस पर बवाल मचा है, उस पर वो पूरी तरह से खामोश रहे. आइए जानें ड़ेढ़ महीने के इस बवाल की 15 बातें...

1. हम सब एक हैं...
-मैं आपके सामने दो तीन बातें रखना चाहता हूं.

-गांव गांव जाकर मैंने समाजवादी पार्टी को मजबूत बनाया.

- हमारे समाज में अनेक असमानताएं हैं. सबको सम्‍मानजनक जीवन जीने का अधिकार है.

- समाजवादी सिद्धांतों के साथ काम करें नेता.

- हमारा परिवार एक है और पार्टी एक है. सारे कार्यकर्ता, सारे नेता एक हैं.

2. नहीं निकाले जाएंगे पार्टी से अमर
- अमर सिंह को बीच में क्‍यों लाते हैं. एक सवाल के जवाब में ये बातें मुलायम ने कहीं.

- अमर सिंह को पार्टी से नहीं निकाला जाएगा.

- साजिश करने वालों को आप खोजिए. पार्टी में कुछ लोग साजिश कर रहे हैं.

- मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ही हैं. ये बात मुलायम ने एक सवाल के जवाब में कहीं.

- बहुमत के बाद सीएम का चुनाव होगा.

3. मंत्री किसे बनाना है वो सीएम जानें
- मंत्रियों को वापस लेने का फैसला सीएम पर छोड़ता हूं. शिवपाल ने न मंत्री पद मांगा और न ही मैंने उनसे कुछ इस बारे में कहा.

- रामगोपाल की बात छोडि़ए. अब मैं उनको महत्‍व नहीं देता.

- मेरा सीएम बनने का अब कोई विचार नहीं है.

- अखिलेश के सीएम पद पर किसी को ऐतराज नहीं.

- हमारी पार्टी लोकतांत्रिक है. विधायक ही अपना नेता चुनेंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें