scorecardresearch
 

बसपा से निकाले गए विधायक ने कहा- टिकट के लिए मांगे गए थे 5 करोड़

गाज़ियाबाद की साहिबाबाद सीट के विधायक अमरपाल शर्मा ने आरोप लगाया है कि बसपा नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने बहनजी यानी मायावती और पार्टी के लिए 5 करोड़ रुपये मांगे थे. उन्होंने कहा कि मैं यह रकम नहीं दे सका, इसलिए मुझे पार्टी से निकाल दिया गया.

बसपा सुप्रीमो मायावती बसपा सुप्रीमो मायावती

गाज़ियाबाद की साहिबाबाद सीट के विधायक अमरपाल शर्मा ने आरोप लगाया है कि बसपा नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने बहनजी यानी मायावती और पार्टी के लिए 5 करोड़ रुपये मांगे थे. उन्होंने कहा कि मैं यह रकम नहीं दे सका, इसलिए मुझे पार्टी से निकाल दिया गया.

अमरपाल यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा, ' साल 2007 के चुनाव में मैंने निर्दलीय लड़ते हुए 33 हज़ार से ज़्यादा वोट हासिल किए, तब बसपा ने 2012 में मुझे बुलाकर बिना पैसे के टिकट दिया था, लेकिन उसके बाद जन्मदिन और तमाम मौकों पर पैसे मांगे जाते रहे. मैं अपने दोस्तों-यारों से इकठ्ठा करके पैसे देता रहा. लेकिन चुनाव से ठीक पहले जब 5 करोड़ मांगे गए तो मैंने देने से मना कर दिया, जिसके बाद मुझे पार्टी से निकाल दिया गया.

उन्होंने आरोप लगाया कि बसपा में तो मायावती के दर्शन के लिए भी 20 लाख रुपए देने पड़ते हैं, किताबों के लिए 2 लाख मांगे जाते हैं, हर क़दम पर पैसा मांगते हैं. उन्होंने कहा कि जो उम्मीदवार पैसा देकर टिकट लेगा, वह विकास करेगा या कमीशन खाकर अपने पैसे निकालने की कोश‍िश करेगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें