scorecardresearch
 

दलित के घर पर रवि किशन ने खाना क्या खाया, नवाब मलिक ने मौज ले ली!

सांसद रवि किशन ने एक गरीब के घर पर खाना खाया है. उन्होंने बकायदा सोशल मीडिया पर उस कार्यक्रम की कुछ तस्वीरें शेयर की हैं. लेकिन महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने इस पर तंज कस दिया है.

नवाब मलिक का रवि किशन पर तंज नवाब मलिक का रवि किशन पर तंज
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ओबीसी समाज को साधने के लिए 'भोजन पॉलिटिक्स'
  • सीएम योगी ने की शुरुआत, रवि किशन बढ़ा रहे आगे
  • स्वामी प्रसाद मौर्य के जाने के बाद बीजेपी की बढ़ी चुनौती

यूपी चुनाव में दलित वोटर या कह लीजिए ओबीसी समाज की अहम भूमिका है. हर पार्टी इस वर्ग को अपने पाले में करना चाहती है. जब से स्वामी प्रसाद मौर्य और कुछ दूसरे दिग्गजों ने बीजेपी का दामन छोड़ा है, पार्टी के सामने इस वोट बैंक को बचाए रखना चुनौती बन गया है. अब उस चुनौती को कम करने के लिए दलित परिवारों के घर पर भोजन किया जा रहा है. सीएम योगी ने किया और अब रवि किशन भी उस दिशा में आगे बढ़ लिए हैं.

सोशल मीडिया पर सांसद रवि किशन ने कुछ तस्वीरें शेयर की हैं जहां पर वे किसी गरीब के घर भोजन कर रहे हैं. वे वहां पर लोगों को खाना बांटते भी दिख रहे हैं. उन तस्वीरों को साझा करते हुए रवि किशन ने लिखा है कि सबका साथ सबका विकास. अब ये तस्वीर सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर गई है. हर कोई इस पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहा है. लेकिन महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने तंज कस दिया है.

उनके मुताबिक रवि किशन खुद कागज के ग्लास में पानी पी रहे हैं वहीं गरीब को लोटे से पानी दिया गया है. इस बात पर वे ट्वीट कर लिखते हैं कि पत्तल, सलाद, पूरी और भाजी दर्शाता है की माल रसोइए का है. दलित लोटे में पानी पिये और अभिनेता कगाज की गिलास में. वाह बचवा वाह.. ज़िंदगी झंड बा ,फिर भी घमंड बा. अभी तक रवि किशन ने नवाब मलिक के इस तंज का जवाब नहीं दिया है.

वैसे यूपी की राजनीति में अभी ओबीसी समाज को खुश करने के लिए हर पार्टी प्रयास कर रही है. एक तरफ सपा के पाले में क्योंकि बीजेपी से कई इस समाज के नेता शामिल हो लिए हैं, ऐसे में पार्टी गदगद है, वहीं दूसरी तरफ बीजेपी अपने उम्मीदवारों और 'खाना खाने वाली रणनीति' के तहत इस समाज को फिर साधने का प्रयास कर रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×