scorecardresearch
 

केरलः बीजेपी को श्रीसंत पर दांव लगाना पड़ा महंगा

केरल के विधानसभा चुनावों में इस बार कांग्रेस पिछड़ती हुई दिख रही है जबकि लेफ्ट को ज्यादा सीटें मिलती नजर आ रही हैं. इस बार लेफ्ट, कांग्रेस और बीजेपी ने कई नामी-गिरामी नेताओं को चुनावी मैदान में उतारा था, जिनमें कुछ की जीत तो कुछ की हार हुई है.

ओमान चांडी ओमान चांडी

केरल के विधानसभा चुनावों में इस बार कांग्रेस पिछड़ती हुई दिख रही है जबकि लेफ्ट को ज्यादा सीटें मिलती नजर आ रही हैं. इस बार लेफ्ट, कांग्रेस और बीजेपी ने कई नामी-गिरामी नेताओं को चुनावी मैदान में उतारा था, जिनमें कुछ की जीत तो कुछ की हार हुई है.

सीपीआईएम के तीनों बड़े चेहरों ने दिलाई जीत
1. केरल में भले ही इस बार कांग्रेस पिछड़ गई हो लेकिन यहां के मुख्यमंत्री और पार्टी नेता ओमान चांडी को पुतुपल्ली सीट से जीत मिल गई है. उन्होंने राज्य में जीत दर्ज करने वाली सीपीआईएम के जैक सी. थॉमस को 27092 वोटों से हरा दिया.
2. मलमपुज्हा सीट से मैदान में उतरे सीपीआईएम के वी.एस. अच्‍युतानंदन भी जीत गए हैं. इस सीट पर उन्होंने बीजेपी के उम्मीदवार सी. कृष्णकुमार को 27142 वोटों से हराया है.
3. धर्मादम सीट पर सीपीआईएम के उम्मीदवार को ही जीत मिली है. पार्टी की तरफ से चुनाव लड़ रहे पिनराई विजयन ने कांग्रेस के उम्मीदवार ममबारम दिवाकरन को हराते हुए 36905 वोटों से जीत दर्ज कर ली है.

श्रीसंत पर दांव लगाना पड़ा बीजेपी को भारी
आईपीएल मैच फिक्सिंग को लेकर क्रिकेट की दुनिया से दूर हुए श्रीसंत ने इस बार राजनीति में हाथ आजमाने की कोशिश की. उन्होंने बीजेपी के टिकट पर तिरुवनंतपुरम से चुनाव लड़ा लेकिन कांग्रेस और निर्दलीय उम्मीदवारों ने उन्हें पीछे छोड़ दिया. इस सीट पर कांग्रेस के वी.एस. शिवकुमार जीत गए हैं जबकि निर्दलीय विधायक एंटनी राजू दूसरे नंबर पर रहे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें