scorecardresearch
 

'लापता' हुए डीएम को धमकी देने वाले प्रभुनाथ सिंह

महाराजगंज के सांसद और राजद प्रत्याशी प्रभुनाथ सिंह की मुश्किलें बढ़ती ही जा रहीं है. प्रभुनाथ ने एक बार फिर आचार संहिता का उल्लंघन करते हुए विवादास्पद बयान दे दिया है.

X
प्रभुनाथ सिंह की फाइल फोटो
प्रभुनाथ सिंह की फाइल फोटो

महाराजगंज के सांसद और राजद प्रत्याशी प्रभुनाथ सिंह की मुश्किलें बढ़ती ही जा रहीं है. प्रभुनाथ ने एक बार फिर आचार संहिता का उल्लंघन करते हुए विवादास्पद बयान दे दिया है.

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए प्रभुनाथ ने इशारों इशारों में सारण के जिलाधिकारी सह निर्वाचन पदाधिकारी कुंदन कुमार और प्रशासनिक अधिकारियों पर विवादास्पद बयान दे दिया था. सिंह ने कहा  था कि ये चुनाव मेरे लिए जिंदगी और मौत की बात है. अगर कोई जिलाधिकारी या अधिकारी मुझे डराने की कोशिश करेगा तो या तो मैं उसे कफन ओढ़ा दूंगा या खुद ओढ़ लूंगा.

प्रभुनाथ के इस बयान को आधार बना कर सारण के जिलाधिकारी कुंदन कुमार ने संज्ञान लेते हुए मामले की शिकायत चुनाव आयोग से की थी और आगे की कार्रवाई का निर्देश मांगा था. आयोग ने प्रभुनाथ की गिरफ्तारी के आदेश दे दिए हैं लेकिन बताया जा रहा है कि दो गैर जमानती वारंट जारी होने के बाद गिरफ्तारी से बचने के लिए सांसद प्रभुनाथ सिंह ‘लापता’ बताए जाते हैं. सारण के जिलाधिकारी कुंदन कुमार ने बताया कि वारंट के तामील के लिए प्रभुनाथ सिंह को पुलिस तलाश रही है, लेकिन वे जिला में मौजूद नहीं हैं.

गौरतलब है कि इससे पहले 12 अप्रैल को छपरा में हुए राबड़ी देवी की रैली में प्रभुनाथ ने बोगस वोटिंग करने की बात की थी जिसके बाद जिलाधिकारी सह निर्वाचन पदाधिकारी ने उन पर आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज किया था. जिसके बाद से ही प्रभुनाथ जिलाधिकारी के खिलाफ विवादास्पद बयान दे गए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें