scorecardresearch
 

लोकसभा चुनाव 2014: तीसरे चरण की वोटिंग खत्म, जनता ने दिखाया जोश, किया बंपर मतदान

देश के 14 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में गुरुवार को लोकसभा चुनाव के तहत तीसरे चरण का मतदान शांतिपूर्ण संपन्न हो गया. लोकसभा के 543 सदस्यों को चुनने के लिए हुए मतदान के इस चरण के दौरान 91 सांसदों का चुनाव करने के लिए करोड़ों मतदाताओं ने मतदान किया. इसी दौर में राष्ट्रीय राजधानी की सभी सात सीटों के लिए मतदान कराया गया.

लोकतंत्र के महापर्व में जनता ने दिखाया जबरदस्त जोश लोकतंत्र के महापर्व में जनता ने दिखाया जबरदस्त जोश

देश के 14 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में गुरुवार को लोकसभा चुनाव के तहत तीसरे चरण का मतदान शांतिपूर्ण संपन्न हो गया. लोकसभा के 543 सदस्यों को चुनने के लिए हुए मतदान के इस चरण के दौरान 91 सांसदों का चुनाव करने के लिए करोड़ों मतदाताओं ने मतदान किया. इसी दौर में राष्ट्रीय राजधानी की सभी सात सीटों के लिए मतदान कराया गया.

दिल्ली की 7 लोकसभा सीटों पर करीब 64 फीसदी मतदान हुआ. यहां चांदनी चौक में 65.1 फीसदी, नॉर्थ ईस्ट में 66.6 फीसदी, ईस्ट में 64 फीसदी, नई दिल्ली में 65.9 फीसदी, नॉर्थ वेस्ट में 61.2 फीसदी, वेस्ट में 61.4 और साउथ में 64 फीसदी मतदान दर्ज किया गया.

यूपी में 10 सीटों के लिए 65 फीसदी मतदान हुआ. सहारनपुर में 72 फीसदी वोटिंग हुई. अलीगढ़ में गाजियाबाद में 6 बजे तक 59.8 और मेरठ में 65.9 फीसदी मतदान हुआ. दंगाग्रस्त मुजफ्फरनगर में 67.78 फीसदी और शामली में 70.85 फीसदी मतदान दर्द किया गया.

हरियाणा की 10 लोकसभा सीटों पर कुल 73 फीसदी वोटिंग हुई. 6 बजे तक मध्यप्रदेश की 9 सीटों पर 58.27 फीसदी मतदान दर्ज किया गया. महाराष्ट्र में 54.13 फीसदी वोट डाले गए. झारखंड की चार सीटों के लिए लगभग 58 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया.

शहर दर शहर कामकाजी और मध्य वर्ग के मतदाताओं में उत्साह देखा गया. कुछ स्थानों पर तेजी से मतदान की जानकारी मिली जिससे मतदान का प्रतिशत रिकार्ड होने की उम्मीद की जा रही है.

मतदान की तीव्र गति का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि सुबह सात बजे से पहले आठ घंटे के दौरान 19.1 करोड़ मतदाताओं में से अनुमानत: 50 प्रतिशत ने मताधिकार का प्रयोग कर लिया था. 140,850 मतदान केंद्रों पर सभी आयुवर्ग के पुरुष और महिला मतदाता कतार में खड़े थे.

मतदान कार्य में जुटे कर्मचारी मतदाताओं की पहचान की जांच करने और उंगली पर स्याही लगाने में व्यस्त रहे.

नौ चरणों वाली मतदान प्रक्रिया यद्यपि 7 अप्रैल से ही शुरू हो चुकी है लेकिन पहले दो चरणों में पूर्वोत्तर के केवल 13 क्षेत्रों में मतदान कराया गया है. इस क्षेत्र में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को मुकाबले में नहीं माना जा रहा है.

मतदान का यह दौर इसलिए भी महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि इस दौर में केरल, दिल्ली और हरियाणा जैसे राज्यों में भी मतदान हो रहा है और 2009 के चुनाव में यहां भाजपा को एक भी सीट नहीं मिल पाई थी.

इसी क्षेत्र में आक्रामक भाजपा का रथ रोकने के लिए कांग्रेस को पिछली बार मिली 50 से ज्यादा सीटें कायम रखनी होगी.

तीसरे चरण का मतदान आम आदमी पार्टी, समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, शिव सेना, एमएनएस, वामपंथी दलों और जनता दल युनाइटेड के लिए भी महत्वपूर्ण है.

चुनाव आयोग ने कहा है कि बिहार को छोड़ शेष जगहों पर मतदान शांतिपूर्ण रहा है.

बिहार के मुंगेर जिले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के दो जवान नक्सलियों द्वारा बिछाई गई बारूदी सुरंग की चपेट में आने से शहीद हो गए. हमले के समय जवान पड़ोसी जमुई जिला जा रहे थे। नक्सलियों ने लखीसराय जिले में एक स्कूल को उड़ा दिया.

गुरुवार को जिन क्षेत्रों में मतदान हुआ है उनमें 1,414 प्रत्याशी मैदान में हैं.

इस चरण में केरल की 20 सीटों, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, महाराष्ट्र और ओडिशा में 10-10 सीटों, मध्य प्रदेश में 9 सीटों, दिल्ली की सभी सात सीटों, बिहार की छह सीटों, झारखंड की चार सीटों और छत्तीसगढ़, जम्मू, चंडीगढ़, लक्षद्वीप और अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह की एक-एक सीट पर मतदान कराया गया है.

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, उनके पुत्र और पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी और आम आदमी पार्टी (आप) के नेता अरविंद केजरीवाल ने अलग अलग केंद्रों पर मतदान किया. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पूर्व अध्यक्ष नितिन गडकरी ने नागपुर में मतदान किया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें