scorecardresearch
 

कांग्रेस ने दिया जवाब- केजरीवाल में अनुभव की कमी, 18 में से 16 मुद्दों पर सहमति की जरूरत नहीं

कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल की चिट्ठी का जवाब सोमवार को दे दिया. कांग्रेस नेता शकील अहमद ने केजरीवाल को भेजे जवाब में लिखा है कि 18 में से 16 मुद्दों के लिए विधानसभा की सहमति की जरूरत नहीं है. शेष दो मुद्दे दिल्ली से बाहर के हैं.

शकील अहमद शकील अहमद

कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल की चिट्ठी का जवाब सोमवार को दे दिया. कांग्रेस नेता शकील अहमद ने केजरीवाल को भेजे जवाब में लिखा है कि 18 में से 16 मुद्दों के लिए विधानसभा की सहमति की जरूरत नहीं है. शेष दो मुद्दे दिल्ली से बाहर के हैं.

शकील अहमद ने कहा, 'हमने केजरीवाल को उनकी चिट्ठी का जवाब भेज दिया है. उन्होंने 18 शर्तें रखी थीं. उन 18 में से 16 मुद्दों पर विधानसभा की सहमति की जरूरत नहीं होती. ये सभी मुद्दे प्रशासनिक कार्य से जुड़े हैं. उन्होंने अनुभव की कमी होने की वजह से ऐसा कह दिया होगा. इन मुद्दों पर 'आप' चाहे तो दिल्ली में सरकार गठन के बाद उससे चर्चा कर हल निकाल सकती है. शेष दो मुद्दे लोकपाल और दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने से संबंधित हैं. ये मामले दिल्ली से बाहर के हैं.'

ये थीं केजरीवाल द्वारा कांग्रेस को भेजी 18 शर्ते

कांग्रेस नेता ने कहा, 'हम आम आदमी पार्टी को बाहर से समर्थन दे रहे हैं. दो मुद्दों पर हम उनका सहयोग करेंगे जिसमें से एक लोकपाल का है जो इस हफ्ते पास हो सकता है. दिल्ली को पूर्ण राज्य का अधिकार देने की बात राज्य के अधिकार क्षेत्र से बाहर है. इस मसले पर केंद्र से बात करनी होगी.'

पढि़ए अरविंद केजरीवाल ने राजनाथ सिंह को चिट्ठी में क्‍या लिखा...

गौरतलब है कि केजरीवाल ने कांग्रेस के बिना शर्त समर्थन पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और बीजेपी अध्यक्ष राजनाथ सिंह को एक चिट्ठी लिखी थी. इसमें उन्होंने आम जनता से जुड़े 18 मुद्दों का जिक्र करते हुए लिखा था कि क्या कांग्रेस उन्हें उन मुद्दों पर समर्थन देगी. 'आप' ने कांग्रेस से इन मुद्दों पर समर्थन के लिए लिखित आश्वासन मांगा था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें