scorecardresearch
 

अरविंद केजरीवाल के बहस के न्योते पर बोलीं किरण बेदी, 'उनसे असेंबली में करूंगी बहस'

दिल्ली में बीजेपी की मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार किरण बेदी ने अरविंद केजरीवाल का सार्वजनिक बहस का न्योता ठुकरा दिया है. उन्होंने कहा कि वह अरविंद केजरीवाल से विधानसभा में बहस करेंगी, क्योंकि वह उनके बहस करने के तरीके से वाकिफ हैं.

Arvind Kejriwal vs Kiran bedi Arvind Kejriwal vs Kiran bedi

दिल्ली में बीजेपी की मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार किरण बेदी ने अरविंद केजरीवाल का सार्वजनिक बहस का न्योता ठुकरा दिया है. उन्होंने कहा कि वह अरविंद केजरीवाल से विधानसभा में बहस करेंगी, क्योंकि वह उनके बहस करने के तरीके से वाकिफ हैं.

इस बारे में पूछे जाने पर किरण बेदी ने मंगलवार सुबह कहा, 'मैं कह चुकी हूं कि अगर बीजेपी चाहती है तो मैं डिबेट के लिए तैयार हूं. लेकिन मुद्दा इससे अलग है. मैं डिलीवरी में यकीन रखती हूं और वह बहस में यकीन रखते हैं. मैं अरविंद केजरीवाल से विधानसभा में बहस करूंगी. मैं केजरीवाल को जानती हूं. मैं जानती हूं कि वह कैसी डिबेट करते हैं. आप उन्हें नहीं जानते. इसलिए यह डिलीवर करने का वक्त है, बहस में पड़ने का नहीं. बहस करने का तो बहुत समय मिलेगा.'

इस पर अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि असेंबली में तो चुनाव के बाद बहस होगी ही, लेकिन चुनाव से पहले मुद्दों पर चर्चा होनी चाहिए. तभी जनता को हमारे मुद्दों और योजनाओं के बारे में पता चलेगा.

AAP संयोजक अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को बीजेपी की सीएम कैंडिडेट किरण बेदी को सार्वजनिक बहस के लिए आमंत्रित किया था. उन्होंने कहा था कि इससे लोकतंत्र में स्वस्थ परंपरा शुरू होगी. किरण बेदी को सीएम प्रत्याशी बनाए जाने की बधाई देते हुए उन्होंने मंगलवार सुबह यह ट्वीट किया.

इसके साथ ही केजरीवाल ने शर्त रखी कि एक निष्पक्ष शख्स इस सार्वजनिक बहस की मध्यस्थता करे और इसका हर जगह प्रसारण किया जाए. किरण बेदी पहले ही कह चुकी थीं कि वह अरविंद केजरीवाल से किसी भी बहस के लिए तैयार हैं. इसके बाद सवाल उठ रहे थे कि क्या अरविंद इस प्रस्ताव को स्वीकार करेंगे. लेकिन अपनी ओर से किरण बेदी को बहस का न्योता देकर उन्होंने बीजेपी पर पलटवार कर दिया. उम्मीद की जा रही थी कि किरण बेदी बहस का प्रस्ताव स्वीकार सकती हैं, लेकिन उन्होंने पांव पीछे खींच लिए. अरविंद केजरीवाल ने किरण बेदी से सार्थक संवाद के लिए उन्हें ट्विटर पर अनब्लॉक करने की अपील भी की. उन्होंने लिखा, 'किरण जी, मैं आपको ट्विटर पर फॉलो करता था. लेकिन अब आपने मुझे ब्लॉक कर दिया है. कृपया मुझे अनब्लॉक कर दें.' इससे पहले AAP नेता कुमार विश्वास भी इस बाबत किरण बेदी को निशाने पर ले चुके हैं. कुमार ने कहा था कि किरण बेदी ने उन्हें और केजरीवाल को ट्विटर पर ब्लॉक कर रखा है. उन्हें कम से कम हमसे संवाद और बहस तो करनी चाहिए. किरण बेदी से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, 'मैंने उन्हें आज नहीं, 15 महीने पहले ब्लॉक किया था. तब से वह बहुत परेशान हैं.'
गौरतलब है कि पिछले चुनावों में भी अरविंद केजरीवाल अपने प्रतिद्वंद्वियों को बहस के लिए आमंत्रित करते रहे हैं. लोकसभा चुनाव से पहले उन्होंने नरेंद्र मोदी को भी खुली बहस की चुनौती दी थी, लेकिन मोदी ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें