scorecardresearch
 

JDU में दो फाड़? कार्यकर्ताओं ने शरद को घेरा, नीतीश के पक्ष में लगाए नारे

चुनाव नतीजों और बिहार के सीएम पद से नीतीश कुमार के इस्तीफे के बाद जेडीयू में भी अलग-अलग मत हो गए हैं. पार्टी के कुछ कार्यकर्ताओं ने रविवार को विधायक दल की बैठक से पहले पार्टी अध्यक्ष शरद यादव का घेराव किया और उनके खिलाफ जमकर नारेबाजी की.

जेडीयू अध्यक्ष शरद यादव जेडीयू अध्यक्ष शरद यादव

चुनाव नतीजों और बिहार के सीएम पद से नीतीश कुमार के इस्तीफे के बाद जेडीयू में भी अलग-अलग मत हो गए हैं. पार्टी के कुछ कार्यकर्ताओं ने रविवार को विधायक दल की बैठक से पहले पार्टी अध्यक्ष शरद यादव का घेराव किया और उनके खिलाफ जमकर नारेबाजी की. नीतीश के इस्तीफे से नाराज कार्यकर्ताओं का कहना था कि पार्टी में जो सियासी भूचाल मचा है उसमें शरद का हाथ है और बिहार को शरद की नहीं, नीतीश कुमार की जरूरत है.

गौरतलब है कि शनिवार को नीतीश कुमार ने चुनावों में पार्टी के खराब प्रदर्शन की जिम्मेदारी लेते हुए शनिवार को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. हालांकि, उन्होंने विधानसभा भंग करने की सिफारिश नहीं की थी. इसके बाद पार्टी अध्यक्ष शरद यादव ने बताया कि पार्टी हित को ध्यान में रखते हुए नीतीश कुमार ने यह फैसला किया. अब जेडीयू विधायक अपना नया नेता चुनेगा. साथ ही इशारा दे दिया कि बीजेपी को रोकने वह अपने धुर विरोधी लालू यादव से भी हाथ मिलाने को तैयार है.

इस दौरान, शरद यादव ने एक ऐसी बात कह दी जो शायद जेडीयू कार्यकर्ताओं को नागवार गुजरी. नीतीश के फिर से मुख्यमंत्री बनने पर शरद यादव का कहना था कि आपको क्या लगता है? नीतीश इस्तीफा देने के बाद फिर से वापस आएंगे. दरअसल, कार्यकर्ता चाहते हैं कि नीतीश मुख्यमंत्री बने रहे. उनकी इस मांग का समर्थन पार्टी के कई विधायक भी कर रहे हैं. नीतीश के विरोधी माने जाने वाले नरेंद्र सिंह भी चाहते हैं कि वह मुख्यमंत्री बने रहें.

दूसरी तरफ, मोदी को रोकने के लिए जेडीयू के साथ जाने की संभावना को आरजेडी प्रमुख लालू यादव ने खारिज नहीं किया है. उनका कहना है कि वह स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं. सही वक्त पर फैसला लिया जाएगा. हालांकि लालू यह साफ कर दिया कि उनकी नीतीश या शरद यादव से इस संबंध में कोई बात नहीं हुई है.

आरजेडी के तीन विधायकों का इस्तीफा
आरजेडी के तीन विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है. इस्तीफा देने वाले तीनों विधायक सम्राट चौधरी, जावेद इकबाल और रामलखन है. ये विधायक पहले ही आरजेडी से बगावत कर चुके थे. इस्तीफे के बाद सम्राट चौधरी ने कहा कि बिहार के लोगों से नीतीश कुमार का समर्थन करने की अपील करूंगा ताकि वह मुख्यमंत्री बने रहें.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें