scorecardresearch
 

कांग्रेस की संकट की घड़ी में मदद की, वही बिहार से मेरे सफाया में जुटीः लालू

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने कहा कि संकट की घड़ी में जब कोई कांग्रेस के साथ नहीं था तो वे अकेले उसकी मदद को आगे आए थे और आज वही कांग्रेस बिहार से उनके सफाया में जुटी है.

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने देश में मौजूद वर्तमान संकट के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि संकट की घड़ी में जब कोई कांग्रेस के साथ नहीं था तो वे अकेले उसकी मदद को आगे आए थे और आज वही कांग्रेस बिहार से उनके सफाया में जुटी है.

पटना स्थित राजद के प्रदेश कार्यालय में मधुबनी के बिस्फी से जदयू के नेता डा0 फैयाज अहमद सहित अन्य लोगों के राजद में शामिल होने का स्वागत करते हुए लालू ने आरोप लगाया कि भारत की आजादी के 63 साल बाद भी कांग्रेस ने देश की जनता के लिए क्या किया.

उन्होंने आरोप लगाया कि देश की वर्तमान पीढ़ी के सामने आज जो भी समस्याएं मुंह बाए खडी हैं, उसके लिए कांग्रेस जिम्मेदार है.

राजद सुप्रीमो ने कहा, ‘संकट की घड़ी में जब कोई कांग्रेस के साथ नहीं था और भाजपा एवं आरएसएस सोनिया गांधी को विदेशी कहते थे. ऐसे समय में किसी कांग्रेसी नेता ने मुंह नहीं खोला पर हम बिना किसी लालच के बोले कि कौन बोलता है कि सोनिया गांधी विदेशी हैं. वह भारत की बहु हैं और हम उन्हें प्रधानमंत्री बनाएंगे.’ लालू ने कहा कि कांग्रेस उनका आदर्श नहीं है क्योंकि आपातकाल के दौरान कांग्रेस की नीतियों का विरोध करने पर ही वे मीसा के तहत एक साल जेल में रहे थे.

उन्होंने कहा कि भाजपा तो एक मुखौटा मात्र है पर उसके पीछे असली चेहरा तो संघ परिवार है, जो अमेरिका की तरह इस्लाम का विरोधी है. इसलिए केंद्र और उत्तर प्रदेश सहित देश के अन्य राज्यों से भाजपा को सत्ता से बाहर करने के लिए वामदल, समाजवादी दल और कांग्रेस एकजुट हुए थे.

कांग्रेस पर भाजपा के साथ मिले होने का आरोप लगाते हुए लालू ने कहा कि अब वही कांग्रेस बिहार में उनके अस्तित्व को समाप्त करने के लिए प्रयासरत है.

राजद सुप्रीमो ने कहा कि चुनाव के समय में विभिन्न दलों द्वारा तरह-तरह का प्रलोभन दिया जाएगा और अफवाह फैलाया जाएगा, लेकिन उस पर ध्यान नहीं देना है.

{mospagebreak}उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी के विषय में सोचने वाले लोग चाहे वह किसी समुदाय से हैं. उन्हें उनकी यह सलाह है और वे उन्हें आगाह कर रहे हैं कि कांग्रेस को मजबूत करना भाजपा को मजबूत करना होगा.

लालू ने कहा कि भिन्न-भिन्न प्रकार की चर्चाएं होती रहती हैं पर वे इन चर्चाओं में नहीं पड़ना चाहते हैं और न ही उस पर वे आज अपनी प्रतिक्रिया देना चाहते हैं.

उन्होंने कहा कि चुनाव तो आते जाते रहते हैं, लेकिन उनकी पार्टी देश में भाईचारा और सदभावना के माहौल को खराब करने में लगी संप्रदायिक ताकतें अपनी जड़ें नहीं जमा सके. इसके लिए वे आगे भी प्रयासरत रहेगी.

महिला विधेयक के जरिए प्रखर नेताओं को संसद और विधानसभाओं से बाहर करने की साजिश रचने का कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए राजद प्रमुख ने कहा कि कांग्रेस ऐसा किसके इशारे पर कर रही है. इसके बारे में उन्हें जानकारी नहीं है, लेकिन वे इसे वर्तमान स्वरूप में किसी भी हालत में स्वीकार नहीं करेंगे और सरकार इसके लिए उन्हें सेना-पुलिस की मदद से संसद के बाहर ही उठवाकर क्यों न फेंक दे.

उन्होंने कहा कि राजद महिलाओं के विरोधी नहीं हैं बल्कि उनकी पार्टी ने सुझाव दिया है कि केंद्र इस बिल को लाए पर उसमें मुस्लिम, पिछड़ी जाति और दलित सहित गरीब मजदूरी करने वाली महिलाओं को आरक्षण देने का प्रावधान करे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें