scorecardresearch
 

सुखबीर का पटलवार, बोले- भगवंत मान नहीं, खुद केजरीवाल लड़ें मेरे खिलाफ चुनाव

आम आदमी पार्टी के सांसद और कॉमेडियन भगवंत मान अगले साल होने वाले पंजाब विधानसभा चुनाव में उप-मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल के खिलाफ चुनावी मैदान में उतरेंगे. इसका औपचारिक ऐलान पार्टी संयोजक अरविंद केजरीवाल ने रविवार को एक रैली के दौरान की.

अाम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान अाम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान

आम आदमी पार्टी के सांसद और कॉमेडियन भगवंत मान अगले साल होने वाले पंजाब विधानसभा चुनाव में उप-मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल के खिलाफ चुनावी मैदान में उतरेंगे. इसका औपचारिक ऐलान पार्टी संयोजक अरविंद केजरीवाल ने रविवार को एक रैली के दौरान की. 

अरविंद केजरीवाल की ये ऐलान जलालाबाद में आयोजित अपनी रैली में की. उन्होंने कहा कि भगवंत मान पंजाब के उप-मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे. केजरीवाल 20 नवंबर से 30 नवंबर के बीच पंजाब में 21 रैलियों को संबोधित करेंगे. केजरीवाल अपनी रैली की शुरुआत सुखबीर सिंह बादल के विधानसभा क्षेत्र जलालाबाद से की.

केजरीवाल के बाद भगवंत मान ने भी मंच से बोलते हुए अरविंद केजरीवाल की हां में हां मिलाई और कहा कि अगर पार्टी उनको आदेश देती है तो वह सुखबीर बादल के खिलाफ जलालाबाद से चुनाव लड़ने को तैयार हैं. अरविंद केजरीवाल ने इस मौके पर पंजाब सरकार पर कई बड़े हमले बोले. लेकिन उनके निशाने पर सबसे ज्यादा पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष कैप्टन अमरिंदर सिंह रहे. केजरीवाल ने कहा कि वह जल्द ही अपने पंजाब दौरे के दौरान अमरिंदर सिंह के विदेशी खातों का खुलासा करेंगे और इन खातों के नंबर जनता के बीच रखेंगे.

सुखबीर ने केजरीवाल को चुनाव लड़ने की दी चुनौती
आम आदमी पार्टी के नेशनल कन्वीनर अरविंद केजरीवाल ने भगवंत मान को पंजाब के डिप्टी सीएम सुखबीर सिंह बादल के विधानसभा क्षेत्र जलालाबाद से चुनाव लड़वाने का ऐलान किया तो इसके जवाब में सुखबीर बादल की तरफ से अरविंद केजरीवाल को खुद जलालाबाद से चुनाव लड़ने की चुनौती दी गई है. उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल अपने डम्मी नेताओं के पीछे छुप कर चुनावी लड़ाई ना लड़ें और खुद मैदान में उतरें. सुखबीर बादल की तरफ से यह बयान जारी किया गया है.

43 वर्षीय मान पंजाब के संगरूर से सांसद हैं. मान संसद परिसर में वीडियो शूट करने के चलते विवादों में घिरे थे और फिलहाल उनके खिलाफ इस मामले में संसदीय कमेटी जांच कर रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें