scorecardresearch
 

महाराष्ट्र चुनावः सिंधुदुर्ग जिले में शिवसेना की रही है मजबूत पकड़

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव नजदीक है. 21 अक्टूबर को सिंधुदुर्ग जिले की 3 सीटों पर वोटिंग होगी. 2011 जनगणना के मुताबिक, सिंधुदुर्ग जिले की आबादी 8.5 लाख से ज्यादा है, जबकि औसत साक्षरता 85.56 फीसदी के करीब है.

Maharashtra Assembly Election‌‌ 2019 (फोटो-PTI) Maharashtra Assembly Election‌‌ 2019 (फोटो-PTI)

  • राज्य में 21 अक्टूबर को डाले जाएंगे वोट
  • 24 अक्टूबर को आएंगे चुनाव के नतीजे

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव नजदीक है. 21 अक्टूबर को सिंधुदुर्ग जिले की 3 सीटों पर वोटिंग होगी. 2011 जनगणना के मुताबिक, सिंधुदुर्ग जिले की आबादी 8.5 लाख से ज्यादा है, जबकि औसत साक्षरता 85.56 फीसदी के करीब है. इस जिले के तहत तीन विधानसभा सीटें आती हैं. यहां शिवसेना का अच्छा दबदबा रहा है. तीन में दो सीटों पर शिवसेना काबिज रही है.

बता दें कि 288 सदस्‍यीय महाराष्‍ट्र विधानसभा में भाजपा के 122, शिवसेना के 63, कांग्रेस के 42 और एनसीपी के 41 सदस्‍य हैं. वर्तमान विधानसभा का कार्यकाल 9 नवंबर को खत्‍म होगा. वहीं, 2019 विधानसभा चुनाव के नतीजे 24 अक्टूबर को आएंगे.

ये विधानसभा सीटें हैं

कंकावली, कुडल, सावंतवाड़ी

कंकावली

वोटरों की संख्या- 224081 से ज्यादा

2014 किसे मिली जीत- कांग्रेस

वोटिंग पर्सेंटेज- 69.60%

प्रत्याशियों की संख्या- 9

कुडल

वोटरों की संख्या- 205366 से ज्यादा

2014 किसे मिली जीत- शिवसेना

वोटिंग पर्सेंटेज-68.69%

प्रत्याशियों की संख्या- 7

सावंतवाड़ी

वोटरों की संख्या- 220928

2014 किसे मिली जीत- शिवसेना

वोटिंग पर्सेंटेज- 66.03%

प्रत्याशियों की संख्या-11

नारायण राणे की एमएसपी का भाजपा में विलय

पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे की महाराष्ट्र स्वाभिमान पार्टी (एमएसपी) का भाजपा में विलय हो चुका है. राणे के बेटे कंकावली से भाजपा उम्मीदवार नितेश के लिए सीएम देवेंद्र फडणवीस एक चुनावी रैली को भी संबोधित किया था. वह हाल ही में पार्टी से इस्तीफा देने से पहले कांग्रेस विधायक थे. इस विलय से शिवसेना सकते में है, जिसने बीते सप्ताह मुख्यमंत्री के कंकावली दौरे का कड़ा विरोध किया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें