scorecardresearch
 

राहुल के विमान में तकनीकी खामी, कांग्रेस ने जताई साजिश की आशंका

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के विमान की लैंडिंग का मामला तूल पकड़ता दिख रहा है. राहुल के ऑफिस ने हुबली के गोकुल पुलिस स्टेशन में इस बाबत शिकायत दर्ज कराई है. कांग्रेस पार्टी को ये पूरा मामला संदिग्ध लग रहा है. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राहुल गांधी को फोन कर उनका हाल जाना है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (फाइल फोटो) कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (फाइल फोटो)

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के विमान की लैंडिंग का मामला तूल पकड़ता दिख रहा है. राहुल के ऑफिस ने हुबली के गोकुल पुलिस स्टेशन में इस बाबत शिकायत दर्ज कराई है. कांग्रेस पार्टी को ये पूरा मामला संदिग्ध लग रहा है. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राहुल गांधी को फोन कर उनका हाल जाना है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस समय चीन के दौरे पर हैं और उन्होंने फ्लाइट से ही राहुल गांधी को फोनकर उनसे बात की है और उनका कुशलक्षेम पूछा. राहुल गांधी को दिल्ली वापस लाने के लिए राजधानी से मैसूर एक नया प्लेन भेजा गया है.

इस संबंध में राहुल गांधी की टीम के सदस्यों ने एयरक्राफ्ट में हुई गड़बड़ियों के बारे में कर्नाटक डीजीपी को पत्र लिखा है. राहुल गांधी सहित 4 अन्य लोगों के साथ इस स्पेशल फ्लाइट में यात्रा कर रहे कौशल विद्यार्थी ने कर्नाटक के डीजी और आईजी को पत्र लिखा है. उन्होंने पत्र में इसे 'अनएक्सप्लेनेड टेक्निकल एरर' बताया है. और ये भी कहा है कि फ्लाइट की लैंडिंग के वक्त सबकुछ सामान्य नहीं था.

धारवाड़ डीसी ने इस घटना पर कहा कि मैंने एयरपोर्ट अथॉरिटी से इस संबंध में बात की है. कोई स्कीडिंग नहीं हुई और न ही किसी घटना की खबर है. उन्होंने कहा कि ऑटो पायलट सिस्टम में छोटी सी बाधा की खबर है, लेकिन इसका फ्लाइट की लैंडिंग या स्कीडिंग से कोई संबंध नहीं है. पायलटों को पुलिस सुरक्षा दी गई है और उन्हें होटल में ठहराया गया है.

'... और तेजी से नीचे गिरने लगा एयरक्राफ्ट'

कांग्रेस की ओर से दी गई शिकायत में कहा गया है कि फ्लाइट ने 9 बजकर 20 मिनट पर उड़ान भरी और उसे 11.45 बजे हुबली पहुंचना था. एयरक्राफ्ट में राहुल गांधी, कौशल विद्यार्थी, रामप्रीत, राहुल गौतम (एसपीजी ऑफिसर) और राहुल रवि सवार थे. सुबह के 10 बजकर 45 मिनट पर अचानक से एयरक्राफ्ट लेफ्ट साइड की झुक गया और एयरक्राफ्ट तेजी से नीचे की ओर गिरने लगा, प्लेन में भयानक हलचल हो रही थी.

पत्र में कहा गया है कि मौसम एकदम साफ था और धूप खिली हुई थी, और यात्रियों के मुताबिक हवा भी नहीं चल रही थी, पूरी तरह सामान्य मौसम था. जैसा कि मौसम विभाग ने जानकारी दी थी. शिकायत में कहा गया है कि प्लेन के एक साइड से झनझनाहट की आवाजें आ रही थीं.

'जब तक जांच न हो, एयरक्राफ्ट उड़ान न भरे'

राहुल गांधी के ऑफिस ने सिफारिश की है कि जब तक जांच पूरी न हो जाए एयरक्राफ्ट को उड़ान न भरने दिया जाए. शिकायत के साथ ही हुबली पुलिस एक्शन में आई और आईपीसी की धारा 336, 287 और एयरक्राफ्ट एक्ट के सेक्शन-11 के तहत एफआईआर दर्ज किया है.

पुलिस अब एयरक्राफ्ट के दोनों पायलटों से पूछताछ कर रही है. सूत्रों के मुताबिक चूंकि दोनों पायलट उड़ा रहे थे, इसलिए पूछताछ की जा रही है और उन्हें ये बताना होगा कि आखिर एयरक्राफ्ट में ऐसी असहज स्थितियां क्यों बनीं.

राहुल गांधी जिस एयरक्राफ्ट में सवार थे, उसका नाम VT-AVH फॉल्कन 2000 है, जोकि रेलीगेयर एविएशन लिमिटेड का है, इसका रजिस्ट्रेशन नेहरू प्लेस, दिल्ली में 04-02-2011 का है.

कांग्रेस अध्यक्ष कर्नाटक के दो दिवसीय दौरे पर गुरुवार को हुबली पहुंचे, जहां वह पार्टी के मेनिफेस्टो को जारी करेंगे.

'घटना की गहन जांच करेगा डीजीसीए'

इस बीच पूरी घटना पर डीजीसीए ने बयान जारी किया है. डीजीसीए की ओर से कहा गया है कि ऑपरेटर ने इस घटना के बारे में बताया है. ऑपरेटर रिपोर्ट के मुताबिक ये स्नैग ऑटो पायलट मोड से मैनुअल मोड में शिफ्ट करने से आया. डीजीसीए ने कहा है कि ऑटो पायलट मोड का बंद किया जाना अनकॉमन नहीं है, लेकिन किसी वीआईपी की फ्लाइट के साथ ऐसा होने पर डीजीसीए गहन जांच करता है और इस मामले में भी ऐसा होगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें