scorecardresearch
 

अमित शाह की फटकार, चुनाव में हार के बाद हरियाणा BJP अध्यक्ष ने दिया इस्तीफा

हरियाणा प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला ने इस्तीफा दिया. टोहाना में मिली करारी हार और हरियाणा में पार्टी के मन मुताबिक नतीजे ना आने के बाद जिम्मेदारी लेते हुए सुभाष बराला ने पार्टी हाईकमान को अपना इस्तीफा भेज दिया. इससे पहले बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने सुभाष बराला को पार्टी के खराब प्रदर्शन के लिए जोरदार फटकार भी लगाई.

भाजपा नेता सुभाष बराला (फाइल फोटोः ट्विटर) भाजपा नेता सुभाष बराला (फाइल फोटोः ट्विटर)

  • अपनी सीट पर भी पीछे चल रहे बराला
  • जाट वोटरों को साधने में रहे नाकाम

हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी की सरकार खतरे में है. मनोहर लाल खट्टर की सरकार बहुमत से दूर रह गई. भाजपा का अबकी बार 75 पार का नारा फेल हो चुका है. पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला, जिन्हें संगठन में बड़ा ओहदा देकर जाटों को साधने की जिम्मेदारी दी गई थी, वह खुद टोहना सीट पर पीछे चल रहे हैं. अमित शाह के फटकार लगाने के बाद बराला ने प्रदेश भाजपा अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है.

बराला ने हरियाणा में पार्टी के मन मुताबिक नतीजे नहीं आने के बाद इसकी जिम्मेदारी लेते हुए पार्टी हाईकमान को अपना इस्तीफा भेज दिया है. बताया जाता है कि बराला ने यह कदम पार्टी के खराब प्रदर्शन के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के जोरदार फटकार लगाने के बाद उठाया. गौरतलब है कि बराला भाजपा के जाट चेहरा थे. मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के गैर जाट होने के कारण जाटों को साधे रखने के लिहाज से जाट बिरादरी से आने वाले बराला को संगठन के शीर्ष पद पर बिठा दिया था.

पार्टी को उम्मीद थी कि जाट चेहरा बराला का शीर्ष पर होना प्रदेश के 28 फीसदी जाट वोटरों को भाजपा के साथ बनाए रखने में सहायक होगा, लेकिन हुआ ठीक उलट. प्रदेश के जाटों को साधने की जिम्मेदारी जिन बराला के कंधों पर थी, वह अपने क्षेत्र के मतदाताओं को साधने में भी विफल रहे.

रंग न लाई पीएम मोदी की रैली

प्रदेश के स्टार प्रचारकों की सूची में जिन बराला का नाम शामिल थे, उनके समर्थन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनावी रैली की. राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने नहीं पहुंच पाने पर वीडियो संदेश जारी कर बराला के पक्ष में मतदान की अपील की. गुरदासपुर के सांसद फिल्म अभिनेता सनी देओल ने रोड शो किया. लेकिन यह सब बेअसर रहा और बराला अपने ही निर्वाचन क्षेत्र में हार गए. एक अन्य प्रमुख जाट नेता कैप्टन अभिमन्यू भी चुनाव हार गए हैं. बराला को जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) के देवेंद्र सिंह बबली ने शिकस्त दी.

बता दें कि हरियाणा में भाजपा ने अबकी बार 75 पार का नारा दिया था. नतीजों के मुताबिक, भाजपा 40 और कांग्रेस 30 सीटों पर जीत हासिल की. प्रदेश की सियासत के क्षेत्रीय क्षत्रप चौटाला परिवारा में विघटन के बाद अस्तित्व में आई जननायक जनता पार्टी 10 और 6 सीटों पर अन्य विजयी रही.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें