scorecardresearch
 

गुजरात में सच और झूठ की लड़ाई, BJP का सच सूट-बूट वालों की यारी है: राहुल गांधी

 कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने वलसाड जिले के नाना पोंधा में आक्रोश रैली को संबोधित करते हुए बीजेपी पर जमकर हमला बोला.

X
रैली में राहुल गांधी रैली में राहुल गांधी

 कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने वलसाड जिले के नाना पोंधा में आक्रोश रैली को संबोधित करते हुए बीजेपी पर जमकर हमला बोला. राहुल गांधी ने कहा कि गुजरात का सच और बीजेपी का सच दो अलग चीजें हैं. बीजेपी का सच सूट-बूट वालों की यारी है. दोनों का एक-दूसरे से कोई लेना-देना नहीं है. गुजरात का सच है बेरोजगारी, किसानों का दर्द, महंगी शि‍क्षा, भ्रष्टाचार. पाटीदार युवकों और उना के दलितों को मिलने वाली लाठी गुजरात का सच है. गुजरात की लड़ाई सच और झूठ की लड़ाई है.

राहुल ने खुद को पांडव जैसा बताया

राहुल ने बिना नाम लिए इशारों इशारों में मोदी और बीजेपी की तुलना कौरवों से की तो वहीं खुद और गुजरात की जनता को पांडव बताया. राहुल ने कहा कि महाभारत की लड़ाई से पहले दुर्योधनजी और अर्जुन जी भगवान कृष्ण के पास गए. उनसे पांच गांव देने को कहा गया ताकि युद्ध की नौबत न आए. लेकिन दुर्योधन ने इससे इंकार कर दिया. कौरवों के पास बड़ी सेना थी, लेकिन पांडवों के पास सच था. इसी तरह मेरे पास भी सिर्फ सच है. तब भी सत्य और असत्य की लड़ाई थी, आज भी वही है. गुजरात की जनता में सच्चाई है. झूठ कभी नहीं जीतता, हमेशा सच की जीत है. मोदीजी के पास पुलिस है और कई राज्यों में उनका शासन है. लेकिन हमारे साथ सच है. हम मनरेगा पर जो रकम खर्च करते थे, मोदी सरकार ने उसे टाटा नैनो के कारखाने को दे दिया, लेकिन उससे किसी को नौकरी नहीं मिली.

गांधी और सरदार पटेल को किया याद

राहुल गांधी ने कहा कि 70 साल पहले उन दिनों के सुपर पावर इंग्लैंड को किसने वापस भेजा, गुजरात के  दो लोगों ने अहम भूमिका निभाई, गांधी जी और सरदार पटेल ने.  उन्होंने कहा कि पीएम लंबे-लंबे भाषण देते हैं, लेकिन उन्होंने गब्बर सिंह टैक्स के बारे में एक शब्द भी नहीं बोला. उन्होंने कहा कि हम 15 लाख रुपये जैसे खोखले वादे नहीं करेंगे. राहुल ने कहा कि 6.5 लाख एकड़ जमीन मोदी सरकार ने अधिग्रहण की, जिसमे 7 प्रतिशत पर कोई काम नहीं हुआ , लेकिन वो जमीन आदिवासियों को लौटाई नहीं. गुजरात में ज़मीन अधिग्रहण कानून बदला गया.

गुजरात में विधानसभा चुनाव प्रचार अपने चरम पर हैं और वहां गुरुवार को बड़ी राजनीतिक टक्कर देखने को मिली. एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पाटादीरों को मनाने की कोशिश की, तो वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी अपने तीन दिवसीय दौरे के दूसरे दिन कई लोगों से मिलें.

रैली से पहले उन्होंने आशा कर्मियों से बातचीत की.उन्होंने एक स्थानीय आदिवासी से तानपुरा लेकर उसे बजाया भी.

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने गुजरात में चल रही अपनी ‘नवसर्जन यात्रा’का आज दूसरा दिन है. हालांकि अपनी यात्रा को विराम देते हुए राहुल गुरुवार को उत्तर प्रदेश के रायबरेली गए थे, जहां उन्होंने NTPC पावर प्लांट में हुए विस्फोट के मृतकों और घायलों के परिजनों से मुलाकात की.

इससे पहले राहुल गांधी ने बुधवार को जंबूसर में रैली को संबोधित किया था. राहुल ने वहां से पीएम मोदी पर जमकर हमला बोला था. उन्होंने कहा कि देश के हर प्रदेश में मेरा दौरा हो रहा है, मैं हर स्टेट में जा रहा हूं लेकिन पहली बार गुजरात में ऐसा लग रहा है कि समाज का कोई भी भाग खुश नहीं है. पूरे समाज में दुख और मुश्किल है. सिर्फ गुजरात के 5-6 कारोबारी खुश हैं, जिन्हें मोदी सरकार से कोई दिक्कत नहीं है. राहुल ने कहा कि गुजरात में एक अंडरकरंट चल रहा है, जो कि चुनाव में बीजेपी को लगने वाला है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें