scorecardresearch
 

गुजरात पंचायत में बोले अमित शाह- विकास का मजाक उड़ाना गुजरात का मजाक

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने आजतक गुजरात पंचायत के मंच से कहा कि मोदी सरकार ने 3 साल में पूरी व्यवस्था कर दी है. दिसंबर के पहले सप्ताह में चुनाव होने की संभावना है. आजतक के माध्यम से गुजरात की जनता से बात करने के लिए आए हैं.

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने आजतक गुजरात पंचायत के मंच से कहा कि मोदी सरकार ने 3 साल में पूरी व्यवस्था कर दी है. दिसंबर के पहले सप्ताह में चुनाव होने की संभावना है. आजतक के माध्यम से गुजरात की जनता से बात करने के लिए आए हैं.

शाह ने कहा कि इस बार का गुजरात चुनाव बहुत महत्वपूर्ण है. पांच साल तक सत्ता किसके हाथ में रहेगी यह तय किया जाएगा. इस चुनाव में गुजरात की जनता के सामने दो प्रमुख पार्टी है. गुजरात में 1995 तक कांग्रेस का राज रहा है. 1995 के बाद से गुजारत में बीजेपी की सरकार है. गुजरात की जनता बहुत अच्छी तरह से जानती है कि कांग्रेस के कार्यकाल में गुजरात बिजली की किल्लत से जूझता रहा था. आज गांव-गांव तक बिजली और स्वास्थ्य सेवा पहुंचाने का काम हम कर चुके हैं.

सांप्रदायिक और जातीय दंगे कांग्रेस की देन है. आज देश को दंगा मुक्त कराने का पूरा श्रेय बीजेपी को जाता है. बीजेपी सरकार ने विकास करने का रिकार्ड बनाया है. गुजरात मॉडल की चर्चा पूरे देश में है. इसी विकास के मॉडल के चलते इसी राज्य के नरेंद्र मोदी को देश का प्रधानमंत्री बनाया है.

अपने बेटे जय शाह के मामले पर सफाई देते हुए अमित शाह ने आजतक के मंच से कहा कि यदि उसने कुछ गलती की होती तो वह अपनी जांच खुद कराने की मांग नहीं करता. शाह ने कहा कि उनके बेटे में मामले की जांच कराने की बात कही है. शाह ने कहा कि जय की कंपनी का सरकार से कोई लेना देना नहीं है. शाह ने कहा कि जय की कंपनी ने बोफोर्स जैसा घोटाला नहीं किया है.

शाह ने कहा कि व्यापारियों से बीजेपी का रिश्ता इतना पतला नहीं है कि विपक्ष की झूठ के सामने टूट जाए. तीन महीने हो चुके हैं जीएसटी को लागू हुए लेकिन हमारी सरकार धीरे-धीरे समस्या का समाधान दे रही है. जीएसटी का फीड बैक आते-आते  जरा समय लगता हैं. हमने अंदाजा है कि यह दिक्कतें कब तक खत्म हो जाएंगी. यकीन कीजिए जीएसटी के रास्ते से सारी दिक्कतें दूर कर दी जाएंगी.

महज टैक्स लगाने से व्यापार नहीं चलता है और सरकार का कारोबारी से रिश्ता सिर्फ टैक्स का नहीं होता. अच्छे कारोबार के लिए बेहद जरूरी है कि देश में एक शांत माहौल चाहिए जो हमारी सरकार दे रही है. वहीं कांग्रेस के शासन को याद कीजिए और याद कीजिए कि किस तरह से व्यापारी दहशत में जी रहे थे और आए दिन देश के अलग-अलग हिस्सों में दुकानें बंद रखी जाती थी.

नोटबंदी की जो सोच थी वो पूरी हुई. बहुत बड़ा धन लोगों के घर में पड़ा था. अब वो बैंक में आया हैं. इससे देश का विकास होगा. जो पैसे बैंकों में जमा हुआ है उससे यह पता चला है कि कितना कालाधन था. वहीं इस पैसे के जमा हो जाने के बाद देश में टैक्स से राजस्व में बड़ा इजाफा हुआ है. शाह ने कांग्रेस द्वारा विकास दर पर किए गए हमले का जवाब देते हुए कहा कि पहले कांग्रेस को यह बताना चाहिए कि कैसे अटल जी की सरकार के वक्त 7-8 फीसदी विकासदर को वह अपने कार्यकाल के दौरान 4 फीसदी पर ले आए थे. लिहाजा उन्हें मौजूदा सरकार पर सवाल उठाने का हक नहीं है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें