scorecardresearch
 

हार्दिक का हमला- BJP के खिलाफ करना था खुलासा, इसलिए रैली रद्द

हार्दिक ने कहा- 'मनसा की रैली को प्रशासन की ओर से पहले इजाजत दी गई थी. बाद में इजाजत रद्द कर दी गई. यहां तक कि पुलिस को बुलाकर ये कहा गया कि किसी भी तरह की रैली नहीं होनी चाहिए. लोगों को गिरफ्तारी से से डरा रहे हैं.'

X
हार्दिक पटेल हार्दिक पटेल

पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (पास) की गांधीनगर के मनसा में होने वाली रैली को प्रशासन ने अनुमति देने से इनकार कर दिया. इसके बाद पास के नेता हार्दिक पटेल ने आजतक से बात करते हुए कहा- इस रैली में मैं बीजेपी को लेकर कई खुलासे करने वाला था. इसलिए हमारी रैली कि इजाजत रद्द कर दी गई. बता दें, मनसा बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का गृह क्षेत्र भी है.

हार्दिक ने कहा- 'मनसा की रैली को प्रशासन की ओर से पहले इजाजत दी गई थी. बाद में इजाजत रद्द कर दी गई. यहां तक कि पुलिस को बुलाकर ये कहा गया कि किसी भी तरह की रैली नहीं होनी चाहिए. लोगों को गिरफ्तारी से से डरा रहे हैं.'

हार्दिक ने चुनाव आयोग में कंप्‍लेन करने के सवाल पर कहा- 'यहां चुनाव आयोग कुछ सुनता ही नहीं. गुजरात में बीजेपी सरकार जो कहती है वही चुनाव आयोग करता है. बीजेपी डर रही है. हम दिखा देंगे किसमें कितना दम है.'

वहीं, गिरफ्तारी के सवाल पर हार्दिक ने कहा- 'मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता मेरी गिरफ्तारी करें या न करें. लेकिन व्यक्ति कि जो स्वतंत्रता है उस पर सीधा प्रहार किया जाता है.'

कांग्रेस के साथ खींचतान पर हार्दिक ने कहा- 'पॉलिटिकल इश्‍यू हुआ है. मुझे भरोसा है कि आज रात तक मामला सुलझ जाएगा. टिकट का कोई मामला ही नहीं है. हमने कोई टिकट नही मांगा है. हमारा मुद्दा आरक्षण है और वही रहेगा. समाज को आरक्षण दिलवाना है.'  

कांग्रेस को दी गई मोहलत पूरी होने पर क्‍या स्‍टेंड रहेगा? इस सवाल पर हार्दिक का कहना है कि जब व्यक्तिगत आधार पर बात होती है तो, किसी को कोई फर्क नहीं पड़ता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें