scorecardresearch
 

कांग्रेस की माइक्रोलेवल रणनीति, हर क्षेत्र के लिए स्थानीय मुद्दों के आधार पर अलग कैम्पेन

कांग्रेस की रिसर्च टीम ने किस सीट के लिए कौन से मुद्दे सबसे अहम हैं, इसके लिए उस विधानसभा क्षेत्र में जाकर लोगों से राय एकत्र की है. हर उम्मीदवार को ये बताया जाएगा कि उसे प्रचार करते वक्त किन-किन मुद्दों पर सबसे ज्यादा जोर देना है.

X
राहुल गांधी राहुल गांधी

गुजरात चुनाव पर सभी की नज़रें टिकी हैं. धुआंधार प्रचार के बीच अब चुनावी रण में उतरने वाले योद्धाओं (उम्मीदवारों) की फेहरिस्त भी सामने आने लगी हैं. कांग्रेस गुजरात के लिए इस बार माइक्रोलेवल रणनीति पर जोर दे रही है. इस बार  उम्मीदवार तय करने के लिए संबंधित विधानसभा क्षेत्र के हर-छोटे बड़े पहलू पर ध्यान दिया गया है. वहीं गुजरात विधानसभा की 182 सीटों में हर एक सीट के लिए अलग कैम्पेन के साथ खास रणनीति बनाई गई है.      

कांग्रेस की रिसर्च टीम ने किस सीट के लिए कौन से मुद्दे सबसे अहम हैं, इसके लिए उस विधानसभा क्षेत्र में जाकर लोगों से राय एकत्र की है. हर उम्मीदवार को ये बताया जाएगा कि उसे प्रचार करते वक्त किन-किन मुद्दों पर सबसे ज्यादा जोर देना है.

इसके लिए हर गुजरात विधानसभा क्षेत्र से इकठ्ठा किए गए आंकड़ों को उम्मीदवार को उपलब्ध कराया जा रहा है. जिससे तथ्यात्मक तौर पर वो अपनी बात मतदाताओं के सामने रख सके. कांग्रेस पार्टी के रिसर्च डिपार्टमेंट के हेड राजीव गौड़ा ने ‘आज तक’ को बताया कि विधानसभा क्षेत्रवार चुनाव प्रचार के लिए माइक्रोलेवल पर जाकर रिसर्च और डेटा इकट्ठा किया गया है.

कांग्रेस नेताओं का दावा है कि राहुल गांधी की नवसर्जन यात्रा के बाद पार्टी के लिए गुजरात में सकारात्मक माहौल तैयार हो गया है. इसके बाद अब ‘घर घर कांग्रेस’ अभियान के तहत मतदाताओं से ‘डोर टू डोर’ संपर्क किया जा रहा है. 40 स्टार प्रचारकों के साथ पार्टी के नेता, पदाधिकारी इस मुहिम में जुटे हैं. पार्टी के चारों फ्रंटल संगठन इस मुहिम को सफल बनाने में जुटे हैं. कांग्रेस के महिला विंग की अध्यक्ष सुष्मिता देव के मुताबिक पार्टी के हर उम्मीदवार की जीत सुनिश्चित करने के लिए काम किया जा रहा है. उम्मीदवारों को जिस तरह की भी मदद की जरूरत है वो उसे उपलब्ध कराने की कोशिश की जा रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें