scorecardresearch
 

Delhi election 2020: बीजेपी की जीत के लिए RSS का प्लान, 400 बैठकें कर राष्ट्रवाद पर चर्चा

Delhi election 2020 दिल्ली विधानसभा चुनाव के सियासी जंग में आरएसएस ने बीजेपी के कमल खिलाने प्लान बनाया है. संघ कार्यकर्ता दिल्ली में घर-घर जाकर लोगों को राष्ट्रवाद का पाठ पढ़ाएंगे. इतना ही नहीं संघ ने बीजेपी की सियासी जमीन तैयार करने के लिए 400 बैठकें करने का लक्ष्य रखा है और 20-20 कार्यकर्ताओं की टोली बनाकर प्रचार करने की रणनीति बनाई है.

Delhi election 2020: संघ कार्यकर्ता ( फाइल फोटो- PTI) Delhi election 2020: संघ कार्यकर्ता ( फाइल फोटो- PTI)

  • दिल्ली चुनाव में BJP की जीत के लिए बनाया प्लान
  • संघ दिल्ली में 400 बैठकों के जरिए बनाएगा माहौल
  • राष्ट्रवाद पर घर-घर जाकर बैठक की योजना

दिल्ली विधानसभा चुनाव की सियासी जंग फतह करने के लिए बीजेपी के साथ-साथ राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ (आरएसएस) ने भी कमर कस ली है. केजरीवाल के बिजली-पानी फ्री मुद्दे का सामना बीजेपी राष्ट्रवाद के एजेंडे से करने की रणनीति बनाई है. बीजेपी के लिए दिल्ली चुनाव में सियासी जमीन तैयार करने का जिम्मा आरएसएस ने उठाया है. संघ ने राष्ट्रवाद के मुद्दे को लेकर घर-घर जाएगी और हर विधानसभा क्षेत्र में 400 बैठकें करने का लक्ष्य रखा है.

संघ इन मुद्दों के लेकर जाएगी घर-घर

सूत्रों की मानें तो आरएसएस ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में बीजेपी के जीत की इबारत लिखने की कवायद शुरू कर दी है. संघ के कार्यकर्ता राष्ट्रवाद और राष्ट्रीय मुद्दे को लेकर प्रचार करेंगे. संघ के कार्यकर्ता घर-घर जाकर सीएए-एनआरसी, जामिया हिंसा, राम मंदिर और जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के मुद्दे पर चर्चा कर  दिल्ली में बीजेपी के लिए सियासी जमीन तैयार करेंगे.

ये भी पढ़ें: अमित शाह का हमला, कहा- अन्ना हजारे की बदौलत CM बने केजरीवाल, लेकिन लोकपाल भूल गए

संघ युवा समूहों के साथ करेगी बैठक

संघ ने दिल्ली के युवा मतदाताओं तक पहुंचने की रणनीति बनाई है. आरएसएस कार्यकर्ता युवा समूहों के साथ बैठक करेंगे, इस दौरान उनके साथ मोदी सरकार द्वारा लाए गए नागरिकता संशोधन कानून और धारा 370 के हटाने के फैसले के साथ-साथ अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के मार्ग को आसान करने की बात रखेंगे.

दिल्ली में संघ ने 400 बैठकों का रखा लक्ष्य

दिल्ली की सभी 70 विधानसभा सीटों पर आरएसएस ने 400 बैठकें करने का लक्ष्य रखा है. इसके लिए संघ ने अपने 20-20 कार्यकर्ताओं के समूह बनाकर बैठक करेंगे. इसके तहत वो हर एक विधानसभा क्षेत्र में घर-घर जाकर मोदी सरकार की उपलब्धियां को बताने का काम करेंगे. इतना ही नहीं दिल्ली में बीजेपी के सत्ता में आने के बाद के विकास एजेंडे को भी रखेंगे.

ये भी पढ़ें: चुनाव आयोग का ‘पाकिस्तान’ वाला ट्वीट हटाने का निर्देश, कपिल मिश्रा बोले- सच बोलना गुनाह?

सीएए पर जामिया में हुए प्रोटेस्ट को लेकर संघ ने दिल्ली में युवाओं को देश भक्ति का पाठ पाढ़एगी. संघ कार्यकर्ता दिल्ली में घर-घर जाकर सीएए के समर्थन में जनजागरण अभियान चला रहे हैं. चुनाव को देखते हुए पार्कों और कॉलोनियों में भी संघ कार्यकर्ता राष्ट्रवाद के मुद्दे को बीजेपी सरकार कैसे उठा रही है, इस बात से भी लोगों को परिचित कराएंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें