scorecardresearch
 

प्राणपुर विधानसभा सीटः जीत का सिलसिला बरकरार रखना चाहेगी बीजेपी

2015 में प्राणपुर से बीजेपी के विनोद कुमार सिंह तीसरी बार जीते थे. पिछले चुनाव में उन्होंने NCP के इसरत परवीन को 8,101 वोटों से हराया था. इससे पहले विनोद कुमार सिंह 2010 और 2000 में चुनाव जीते थे.

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 (फाइल फोटो) बिहार विधानसभा चुनाव 2020 (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 2015 में विनोद सिंह तीसरी बार जीते थे
  • इस सीट पर अब तक 10 बार चुनाव हुए
  • यहां से कांग्रेस-आरजेडी भी जीत चुकी हैं

बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर कोरोना काल में राजनीतिक दल पूरे दमखम के साथ मैदान में उतर चुके हैं. इस बार प्राणपुर विधानसभा सीट पर बीजेपी फिर अपने जीत का सिलसिला बरकरार रखना चाहेगी.

2015 में प्राणपुर से बीजेपी के विनोद कुमार सिंह तीसरी बार जीते थे. पिछले चुनाव में उन्होंने NCP के इसरत परवीन को 8,101 वोटों से हराया था. इससे पहले विनोद कुमार सिंह 2010 और 2000 में चुनाव जीते थे.

उनसे पहले 2005 (फरवरी और अक्टूबर दोनों) के चुनाव में आरजेडी के महेंद्र नारायण यादव यहां से जीते थे. महेंद्र नारायण 1990 और 1995 का चुनाव जनता दल और 1977 का चुनाव जनता पार्टी के टिकट पर जीत चुके हैं. 1985 में यहां से कांग्रेस के मंगन इंसान और 1980 में कांग्रेस के ही मोहम्मद साकूर जीते थे.

इस सीट पर अब तक 10 बार चुनाव हुए हैं. इस विधानसभा सीट से 3 बार बीजेपी, दो-दो बार कांग्रेस, आरजेडी व जनता दल और एक बार जनता पार्टी जीती है. इस सीट पर 1977 में पहली बार चुनाव हुआ था.   

विधायक- विनोद कुमार सिंह
पार्टी-  बीजेपी  
वोटरों की संख्या-   2,62,241
पुरुष वोटर -  1,38,504
महिला वोटर-  1,23,714
वोटर टर्नआउट- 68.4%

इन उम्मीदवारों पर रहेगी नजर 

इस सीट से 30 नामांकन दाखिल हुए हैं. इसमें 22 स्वीकार किया गया है, जबकि 7 रिजेक्ट और एक उम्मीदवार ने नामांकन वापस ले लिया है. 

1- तौकीर आलम- कांग्रेस
2- निशा सिंह, बीजेपी
3- हसन महमूद अहमद, AIMIM
4- इशरत परवीन, निर्दलीय

वोटिंगः 7 नवंबर-शनिवार

10 नवंबर को आएंगे चुनाव के नतीजे

बिहार विधानसभा चुनाव तीन चरणों में होंगे. 28 अक्टूबर को पहले चरण की वोटिंग, 3 नवंबर को दूसरे चरण की वोटिंग और 7 नवंबर को तीसरे चरण की वोटिंग होगी. इसके बाद 10 नवंबर को बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजे आएंगे. बिहार की 243 सदस्यीय विधानसभा का कार्यकाल 29 नवंबर को समाप्त होगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें