scorecardresearch
 

BJP सांसद की नीतीश से अपील- शराबबंदी कानून में करें संशोधन, भ्रष्टाचार को मिल रहा बढ़ावा

भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने नीतीश कुमार से शराबबंदी कानून में बदलाव करने की अपील की है. सांसद ने ट्वीट कर लिखा है कि जिन्हें शराब लेनी होती है, वो अन्य राज्यों का रुख कर रहे हैं जिससे भ्रष्टाचार बढ़ रहा है.

BJP सांसद निशिकांत दुबे ने की अपील BJP सांसद निशिकांत दुबे ने की अपील
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे की नीतीश से अपील
  • शराबबंदी के कानून में करें संशोधन: बीजेपी सांसद

बिहार में एनडीए की सरकार बनने जा रही है और नीतीश कुमार फिर से मुख्यमंत्री बनेंगे. लेकिन सरकार गठन से पहले ही भारतीय जनता पार्टी के नेता निशिकांत दुबे ने नीतीश कुमार से एक अपील की है. निशिकांत दुबे की मांग है कि बिहार में शराबबंदी में संशोधन किया जाना चाहिए, क्योंकि इससे राज्य में भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिल रहा है. 

झारखंड से बीजेपी के सांसद निशिकांत दुबे ने अपने ट्वीट में लिखा कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से आग्रह है कि शराबबंदी में कुछ संशोधन करें, क्योंकि जिनको पीना या पिलाना है वे नेपाल, बंगाल, झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ का रास्ता अपनाते हैं. बीजेपी सांसद ने कहा कि इससे राजस्व की हानि, होटल उद्योग प्रभावित तथा पुलिस, एक्साइज भ्रष्टाचार को बढ़ावा देते हैं.

देखें: आजतक LIVE TV 

आपको बता दें कि शराबबंदी नीतीश कुमार के एक बड़े फैसलों में गिना जाता है, जिसके कारण उन्हें अक्सर राज्य में महिला वोटरों का साथ मिलता आया है. हाल ही में विधानसभा चुनाव में भी महिला वोटरों ने जदयू समेत एनडीए को जमकर वोट दिया है, जिसका मुख्य कारण शराबबंदी जैसा फैसला बताया जाता है. 

हालांकि, चुनावी माहौल में ही कई बार बिहार में शराब जब्त की गई है. जबकि विपक्ष ने भी शराबबंदी को फेल करार दिया था और कहा था कि इससे राज्य में भ्रष्टाचार बढ़ रहा है. 

2016 में लगा था बैन
गौरतलब है कि नीतीश कुमार ने पिछले चुनाव में शराबबंदी का वादा किया था और राज्य में 2016 में ये लागू की गई थी. पिछले 4 साल में शराबबंदी कानून के तहत 4 लाख लोगों की गिरफ्तारी हुई है, जबकि राज्य के राजस्व पर 4000 करोड़ रुपये तक का असर पड़ा.

इस विधानसभा चुनाव में भी शराबबंदी का मुद्दा छाया रहा था, कांग्रेस ने अपने मेनिफेस्टो में शराबबंदी कानून में संशोधन की बात कही थी. साथ ही कई राजद नेताओं ने चुनावी सभा में कहा था कि महागठबंधन की सरकार बनती है तो बिहार में फिर शराब की बिक्री शुरू होगी. राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि महिला वोटरों का महागठबंधन को वोट ना करने के पीछे यह एक बड़ा कारण रहा था.   

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें