scorecardresearch
 

2682 मदरसों की मान्यता रद्द कर सकती है योगी सरकार, पोर्टल पर नहीं दी जानकारी

अभी तक यूपी सरकार ने दो बार डिटेल्स देने की तारीख को बढ़ाया था. लेकिन करीब 19,000 मदरसों में से इन 2682 ने डिटेल्स नहीं दी है. सरकार अब तारीख को आगे नहीं बढ़ाएगी, जिसके कारण ऐसा कहा जा रहा है कि मदरसों की मान्यता रद्द हो सकती है.

मदरसों की हो सकती है मान्यता रद्द (फाइल) मदरसों की हो सकती है मान्यता रद्द (फाइल)

उत्तर प्रदेश सरकार जल्द ही राज्य के 2682 मदरसों की मान्यता रद्द कर सकती है. ये वो मदरसे हैं जिन्होंने अभी तक मदरसा पोर्टल पर अपनी डिटेल्स नहीं दी है. यूपी सरकार ने बार-बार इसकी समयसीमा बढ़ाई थी लेकिन इन मदरसों ने अभी तक डिटेल्स नहीं दी हैं.

गौरतलब है कि यूपी सरकार द्वारा अगस्त में मदरसों के लिए पोर्टल बनाया गया था, जिसमें सभी मदरसों के लिए डिटेल्स देना जरूरी किया गया था.

अभी तक यूपी सरकार ने दो बार डिटेल्स देने की तारीख को बढ़ाया था. लेकिन करीब 19,000 मदरसों में से इन 2682 ने डिटेल्स नहीं दी है. सरकार अब तारीख को आगे नहीं बढ़ाएगी, जिसके कारण ऐसा कहा जा रहा है कि मदरसों की मान्यता रद्द हो सकती है.

प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने गत 18 अगस्त को एक वेब पोर्टल जारी करते हुए सभी मदरसों से उस पर अपनी प्रबन्ध समिति के सदस्यों, मदरसे में पढ़ाने वाले शिक्षकों, विद्यार्थियों इत्यादि की जानकारी 15 सितम्बर तक पोर्टल पर उपलब्ध कराने के आदेश दिये थे.

उन्होंने कहा था कि सरकार का मकसद मदरसों में होने वाली अनियमितताओं को रोकना और शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार करना है. प्रदेश में मान्यता प्राप्त 19 हजार, आंशिक अनुदान वाले लगभग 4,600 और 100 प्रतिशत अनुदान पाने वाले 560 मदरसे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें