scorecardresearch
 

जानिए एक्टिंग में करियर बनाने की एबीसीडी

जानिए एक्टिंग में करियर बनाने के सैकड़ों मौआज के जमाने में टीवी इंडस्ट्री, फिल्म इंडस्ट्री भारत की सबसे तेज ग्रोथ वाली इंडस्ट्री है. इसमें करियर बनाने के लिए कई ऑप्शंस होते हैं, जिसमे आगे बढ़ा जा सकता है.

career in Acting career in Acting

अपने स्कूल-कॉलेज में अभिनय करने के दौरान लगभग सभी कभी न कभी एक्टिंग में करियर बनाने के बारे में सोचते हैं. लेकिन एक्टिंग में वही लोग सफल होते हैं जो एक्टिंग किए बिना रह ही नहीं सकते. आज के जमाने में टीवी इंडस्ट्री, फिल्म इंडस्ट्री भारत की सबसे तेज ग्रोथ वाली इंडस्ट्री है. इसमें करियर बनाने के लिए कई ऑप्शंस होते हैं, जिसमे आगे बढ़ा जा सकता है.

एक्टिंग में करियर बनाने के लिए योग्यता:
वैसे अगर देखें तो एक्टिंग में करियर बनाने के लिए किसी स्कूल या कॉलेज वाली शिक्षा की कोई जरूरत नहीं है, लेकिन इस क्षेत्र के अच्छे कॉलेजों में दाखिले के लिए किसी भी स्ट्रीम से 12वीं पास या ग्रेजुएट होना जरूरी है.

करियर बनाने के लिए कोर्सेज:
इस क्षेत्र में पीजी डिप्लोमा इन एक्टिंग का दो वर्षीय कोर्स, डिप्लोमा इन एक्टिंग तीन साल का कोर्स, पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन सिनेमा का तीन वर्षीय कोर्स और एक्टिंग फास्ट ट्रैक का छह महीने का कोर्स शामिल है. इन कोर्सेज के अलावा समय-समय पर कई वर्कशॉप भी आयोजित कराए जाते हैं, जिनमें एक्टिंग सें संबंधित बेसिक गुर सिखाए जाते हैं. एक्टिंग सीखने के लिए थियेटर भी ज्वॉइन कर सकते हैं. छोटे-बड़े हर शहरे में थियेटर लोकप्रिय है, वहां के संयोजक से संपर्क करके भी बेसिक जानकारी हासिल की जा सकती है.

सिनेमा के क्षेत्र में एक्टिंग के लिए कैसे होगी एंट्री:
अगर आप किसी फिल्म स्टार परिवार से नहीं आते हैं तो इसकी राह आपके लिए थोड़ी कठिन जरूर होगी, मगर नामुमकिन नहीं. इस समय मॉडलिंग और एक्टिंग एक दूसरे के काफी नजदीक है. भारतीय फिल्म इंड्स्ट्री में ज्यादातर एक्टर मॉडल हैं या रह चुके हैं. एक्टिंग के बड़े मौकों की तलाश के बीच आप एंकरिंग, टीवी विज्ञापन, शो होस्टिंग, टीवी सीरियल में काम कर सकते हैं. फिल्म इंडस्ट्री में कई चीजें बदल चुकी हैं, वहां फिलहाल कई ऐसे बड़े एक्टर हैं जिन्होंने अपने दम पर सफलता हासिल की है.

कहां से करें पढ़ाई:
फिल्म इंस्टीट्यूट, पुणे
सत्यजीत रे फिल्म इंस्टीट्यूट, कोलकात
नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा, नई दिल्ली
एशियन अकेडमी ऑफ फिल्म एंड टेलिविजन, नोएडा
दिल्ली फिल्म इंस्टीट्यूट, नई दिल्ली
अनुपम खेर की एक्टर प्रिपेयर्स इंस्टीट्यूट
सुभाष घई की व्हिसलिंग वुड्स इंटरनेशनल

फिल्म इंडस्ट्री की सकारात्मक बातें:
शोहरत और दौलत की कमी नहीं
काम करने के लिए ज्यादा से ज्यादा मौके मिलेंगे
रिटायरमेंट की कोई उम्र सीमा नहीं है

फिल्म इंडस्ट्री की नकारात्मक बातें:
काफी व्यस्त होगी जिंदगी
निजी जीवन में मीडिया की ताक-झांक
प्रतिस्पर्धा और असफलता के कारण होने वाले डिप्रेशन

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें