scorecardresearch
 

DU ने नहीं दी 79 छात्रों को परीक्षा में बैठने की अनुमति, जानिये क्यों

दिल्ली यूनिवर्सिटी के 79 छात्रों को परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं दी गई. जानिये आख‍िर क्यों नहीं बैठने दिया गया छात्रों को परीक्षा में...

X
represtational photo of students represtational photo of students

दिल्ली यूनिवर्सिटी के एक कॉलेज में 79 छात्रों को शॉर्ट अटेंडेंस के कारण एग्जाम में नहीं बैठने दिया गया. दिल्ली यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले छात्रों को परीक्षा में बैठने के लिए न्यूनतम क्लास अटेंडेंस की आवश्यकता होती है.

DU हुआ 'संस्कारी', हॉस्टल के स्टूडेंट्स को प्रॉपर ड्रेस पहनने का फरमान

हालांकि कई बार कॉलेजों की ओर से उदारता दिखाई जाती है और छात्रों का अटेंडेंस कम होने के बावजूद उन्हें परीक्षा में बैठने की अनुमति दे दी जाती है. पर इस बार विवेकानंद कॉलेज छात्रों के साथ उदारता का रास्ता अपनाने के मूड में नहीं दिख रहा और उसने 79 छात्रों को अटेंडेंस कम होने के कारण परीक्षा में बैठने से इंकार कर दिया.

अब स्कूल में छात्र करेंगे कानूनी पढ़ाई

एक वेबसाइट की रिपोर्ट के अनुसार कॉलेज प्रशासन का कहना है कि उदारता की भी एक सीमा है. कॉलेज की कार्यवाहक प्रमुख हिना नंदराजोग के अनुसार परीक्षा में बैठने के लिए 1st year छात्रों का अटेंडेंस कम से कम 40 फीसदी होना चाहिए और 2nd year के लिए 55 फीसदी अटेंडेंस अनिवार्य है. इससे कम कॉलेज अटेंड करने वाले छात्रों को परीक्षा के लिए नामंजूर कर दिया गया है.

IIT-K के प्रोफेसर का दावा, दो दशक बाद फरवरी में चलेगी लू...

ये नियम यूनिवर्सिटी के निर्देशों में है और कॉलेजों के पास इसका पालन करने का विशेषाधिकार है. छात्रों के पास कॉलेज अटेंड न करने का कोई कारण नहीं है, बशर्ते उनकी कोई पारिवारिक समस्या न हो.

अब वास्‍तुशास्‍त्र में कोर्स कराएगा IIT खड़गपुर

हिना नंदराजोग का कहना है कि उनका कॉलेज अटेंडेंस को लेकर काफी सख्त है और हर सेमेस्टर के बाद अटेंडेंस का डेटा अभिभावकों के पास भी भेजा जाता है. यहां तक हम माता-पिता को कॉलेज भी बुलाते हैं ताकि छात्र के कम अटेंडेंस के कारणों का पता लगा सकें. पर कई अभिभावक इससे जागरुक नहीं हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें